नई दिल्ली. मेलबर्न टेस्ट की पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया बैकफुट पर है. भारतीय गेंदबाजों ने मेजबानों पर अपना शिकंजा कस रखा है. ये शिकंजा तब और मजबूत हो गया जब टीम इंडिया के लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने कंगारू टीम के टॉप ऑर्डर बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा का शिकार किया, उन्हें अपनी स्पिन में फंसाया.

जडेजा ने उस्मान ख्वाजा को शॉर्ट लेग पर डेब्यूडेंट मयंक अग्रवाल के हाथों कैच कराया. ये मेलबर्न टेस्ट की पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को लगा तीसरा बड़ा झटका था. ख्वाजा ने मेलबर्न टेस्ट की पहली पारी में 32 गेंदों का सामना करते हुए 3 चौके की मदद से 21 रन बनाए.

ऑस्ट्रेलिया में हो गया ‘हादसा’

बहरहाल, जडेजा का शिकार बनते ही उस्मान ख्वाजा के साथ एक ऐसा वाक्या भी हो गया जो उनके साथ ऑस्ट्रेलिया में पहले कभी नहीं हुआ था. दरअसल, ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर ख्वाजा के साथ ऐसा पहली बार हुआ है कि वो टेस्ट क्रिकेट में किसी लेफ्ट आर्म ऑर्थोडॉक्स गेंदबाज का शिकार बने हैं.

ख्वाजा की ‘फ्लॉप’ कहानी

भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ख्वाजा को ऑस्ट्रेलिया का ट्रंप कार्ड माना जा रहा था. लेकिन, मौजूदा सीरीज की 5 पारियों में वो अब तक कुछ खास नहीं कर सके हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 26.80 की औसत से सिर्फ 134 रन ही निकले हैं, केवल 1 अर्धशतक के साथ.