बेंगलुरू: आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने रविवार को कहा कि अगर लोग इस लीग के बारे में उलटा-सीधा बोलत हैं तो उन्हें इस बात की कोई परवाह नहीं है, क्योंकि इसके दर्शकों और इससे होने वाले राजस्व में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. पूर्व भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी ने हाल में आरोप लगाया था कि आईपीएल मनी लांड्रिंग का मंच है और उन्होंने आईपीएल नीलामी के दौरान खर्च की जाने वाली बड़ी राशि के स्रोत पर सवाल उठाये. Also Read - IPL 2020 RCB vs SRH Live Streaming: कब और कहां देख सकेंगे बैंगलोर-हैदराबाद मैच

उन्होंने यहां आईपीएल नीलामी के दौरान दूसरे दिन कहा, उन्हें (बेदी सहित सभी) बोलने दीजिये, जो वे बोलना चाहते हैं. हर साल आईपीएल के लिये आकर्षण बढ़ रहा है. इसके दर्शक बढ़ते जा रहे हैं और राजस्व भी बढ़ रहा है. उन्होंने कहा, अगर आपको याद हो तो हमारे सभी पूर्व खिलाड़ियों को आईपीएल से फायदा मिल रहा है. उन्हें एक-मुश्त फायदा दिया गया. उन्होंने सभी ने इसे लिया. बेदी को यह याद रखना चाहिए. Also Read - IPL 2021 से पहले नहीं होगा मेगा ऑक्शन; चेन्नई सुपर किंग्स को लग सकता है बड़ा झटका

आपको बता दें की आईपीएल सीजन 11 के लिए नीलामी रविवार को खत्म हो चुकी है. जयदेव उनादकत IPL Auction 2018 के दूसरे दिन सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ी रहे. उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने 11.5 करोड़ रुपये की भारी कीमत देकर खरीदा. इसके साथ ही वह आईपीएल के इस सीजन में सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी बन गए. उन्होंने केएल राहुल (किंग्स इलेवन पंजाब) और मनीष पांडे (सनराइजर्स हैदराबाद) के 11 करोड़ को पीछे छोड़ दिया. Also Read - कप्तान धोनी की इस सलाह के दम पर कोविड-19 और अतिरिक्त क्वारेंटीन से गुजरने के बाद भी नहीं घबराए रुतुराज

बेन स्टोक्स लगातार दूसरे साल आईपीएल में सबसे महंगे खिलाड़ी रहे. उन्हें भी राजस्थान रॉयल्स ने 12.5 करोड़ रुपये देकर खरीदा. वहीं अफगानिस्तान के राशिद खान को सनराइजर्स हैदराबाद ने आरटीएम का इस्तेमाल करते हुए 9 करोड़ रुपये देकर अपनी टीम का हिस्सा बनाया. इस साल आईपीएल में कुल 169 खिलाड़ियों पर 431 करोड़, 70 लाख रुपये की रकम खर्च की गई.