टोक्यो ओलंपिक में महिलाओं के 49 किलोग्राम वर्ग में ऐतिहासिक रजत पदक जीतने वाली भारतीय भारोत्तोलक मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) के परिवार के सदस्य उनकी सफलता से खुश हैं, हालांकि उन्हें उम्मीद थी कि वो स्वर्ण पदक जीतेंगी।Also Read - Thor ने की स्वर्ण पदक विजेता मीराबाई चानू की तारीफ, बोले- 'गोल्डन गर्ल' को मिलना चाहिए थॉर का हथौड़ा

शनिवार सुबह, मणिपुर की भारोत्तोलक ने महिलाओं के 49 किलोग्राम वर्ग में रजत जीतकर टोक्यो खेलों में भारत का खाता खोला। चानू ने 202 किग्रा (87 किग्रा – 115 किग्रा) वजन उठाकर 2000 सिडनी ओलंपिक में कर्णम मल्लेश्वरी के कांस्य पदक को बेहतर बनाया। चीन के झिहुई होउ ने 210 किग्रा के साथ स्वर्ण पदक जीता, जबकि इंडोनेशिया की विंडी केंटिका ने तीसरा (194 किग्रा) स्थान हासिल किया। Also Read - मीराबाई चानू का मेरे प्रदर्शन की तारीफ करना मेरे लिए गर्व का पल था : पाकिस्तानी भारोत्तोलक नूह दस्तगीर बट

चानू के बड़े भाई बिनोद मैतेई ने कहा कि रजत जीतने के बाद, उन्होंने खुशखबरी साझा करने के लिए अपनी मां सैखोम तोम्बी को फोन किया, और कहा कि मुकाबला शुरू होने से पहले भी चानू ने फोन किया था। Also Read - CWG 2022 : दस पदकों के साथ कॉमनवेल्थ में भारत का भारोत्तोलन अभियान खत्म

बिनोद ने मणिपुर के इंफाल पूर्वी जिले के नोंगपोक काकचिंग गांव से फोन पर आईएएनएस से कहा, “चानू हालांकि स्वर्ण पदक हासिल नहीं कर पाई, लेकिन हम उनके प्रदर्शन से बहुत खुश और रोमांचित हैं। रजत पदक हम सभी के लिए स्वर्ण के समान है।”

चानू के पिता सैखोम कृति मैतेई ने कहा कि उन्होंने अपनी बेटी के विजयी प्रदर्शन को टेलीविजन पर अपनी आंखों में खुशी के आंसू के साथ देखा। सौखम मानते हैं कि उनकी बेटी ने एक अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश को गौरवान्वित किया है। हंसमुख सैखोम ने आईएएनएस को बताया, उनकी सारी मेहनत ने उन्हें बड़ी सफलता दिलाई है।

चानू का गांव नोंगपोक काकचिंग एक कोविड प्रभावित इलाके में है और इसलिए परिवार ने बहुत से लोगों को अपने घर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी और भीड़ को करीबी रिश्तेदारों और करीबी पड़ोसियों तक सीमित कर दिया।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह, केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कानून और न्याय मंत्री किरेन रिजिजू, क्रिकेट आइकन सचिन तेंदुलकर और कई अन्य ने टोक्यो में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए स्टार लिफ्टर को बधाई दी है।