अमेरिका में श्वेत पुलिस अधिकारी के हाथों अफ्रीकी मूल के अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डेरेन सैमी और क्रिस गेल ने नस्लवाद की कड़ी निंदा की थी और अब ड्वेन ब्रावो ने भी इस मसले पर अपनी राय रखी है. ब्रावो ने वर्षों से भेदभाव का शिकार रहे अश्वेत लोगों के लिए ‘आदर और समानता’ की अपील करते हुए कहा कि ‘अब बहुत हो चुका है.’ Also Read - आकाश चोपड़ा की सर्वकालिक IPL-11 टीम के कप्तान बने MS Dhoni, विंडीज धुरंधर क्रिस गेल को जगह नहीं

ब्रावो ने जिम्बाब्वे के पूर्व क्रिकेटर पॉमी मबांग्वा से इंस्टाग्राम पर बातचीत में कहा, ‘दुनिया में जो हो रहा है वह दुखद है. अश्वेत होने के कारण हम अश्वेत लोगों के इतिहास को जानते हैं कि वे किस दौर से गुजरे हैं. हमने कभी बदले की बात नहीं की, हम बस समानता और आदर की बात करते हैं.’ Also Read - नस्लवाद के खिलाफ विरोध जताने के लिए टेस्ट सीरीज में ये काम करेंगे कैरेबियाई क्रिकेटर्स, कप्तान होल्डर ने दी जानकारी

उन्होंने कहा, ‘हम दूसरों का आदर करते हैं. फिर हम लगातार इसका सामना क्यों कर रहे हैं. अब बहुत हो चुका. हम केवल समानता चाहते हैं. हम बदला या जंग नहीं चाहते हैं. हम सम्मान चाहते हैं. हम हर वर्ग के लोगों में प्यार बांटते हैं और उनकी सराहना करते हैं. यह सबसे अधिक महत्वपूर्ण है.’ Also Read - खिलाड़ियों के ड्राफ्ट से एक दिन पहले क्रिस गेल ने कैरेबियन प्रीमियर लीग से लिया नाम वापस, ये है वजह

मंडेला, मोहम्मद अली और जोर्डन की दिलाई याद

वेस्टइंडीज की तरफ से 40 टेस्ट, 164 वनडे और 71 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले 36 वर्षीय ब्रावो ने कहा कि वह चाहते हैं कि दुनिया यह जाने कि वे शक्तिशाली और अच्छे लोग हैं. उन्होंने नेल्सन मंडेला, मोहम्मद अली और माइकल जोर्डन जैसे लोगों को उदाहरण दिया.

उन्होंने कहा, ‘हम चाहते हैं कि हमारे भाई और बहन यह जानें कि हम शक्तिशाली और सुंदर हैं. आप दुनिया के कुछ महान लोगों पर गौर करिये चाहे वह नेल्सन मंडेला हों, मोहम्मद अली या माइकल जोर्डन. हमारे पास ऐसा नेतृत्व रहा जिन्होंने हमारे लिए मार्ग प्रशस्त किया.’

सैमी ने लगाया था ये आरोप 

दो बार के टी20 विश्व कप विजेता कप्तान सैमी ने इससे पहले आरोप लगाया था कि इंडियन प्रीमियर लीग में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेलते हुए उनके खिलाफ नस्ली टिप्पणी की जाती थी. उन्होंने कहा कि जब वह भारत में थे तो उन्हें ‘कालू’ कहा जाता था.

आईपीएल में खेलने वाले गेल ने भी ट्विटर पर सैमी का पक्ष लेते हुए कहा था कि क्रिकेट में नस्लवाद है.