कराची: पाकिस्तान में टेस्ट मैच कराने की पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की उम्मीदों को तगड़ा झटका लगा है. क्रिकेट श्रीलंका के अध्यक्ष शामी सिल्वा ने कहा है कि सुरक्षा कारणों से होटलों में बंद रहने की वजह से खिलाड़ी और टीम अधिकारी वहां उकता गए थे. पांच दिन का टेस्ट मैच खेलना एक बड़ा मुद्दा है और इस पर श्रीलंका के खिलाड़ियों से बात करनी पड़ेगी. पीसीबी ने सिल्वा के इस बयान पर गहरी निराशा, आश्चर्य और अप्रसन्नता जताई है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शामी सिल्वा ने कोलंबो में एक साक्षात्कार में कहा कि खिलाड़ी होटल में तीन दिन तक टिके रहने से उकताहट का शिकार हो गए थे. सिल्वा ने कहा कि खुद वह भी कराची में दो दिन तक एक होटल में बंद रहने से उकता गए थे. उन्होंने कहा कि निश्चित ही हमारी टीम के वहां जाने से पाकिस्तान बहुत खुश और अहसानमंद है लेकिन हमें देखना होगा कि वहां (दिसंबर में) टेस्ट मैच खेलना कितना संभव हो सकेगा. यह पांच दिन की बात है जब खिलाड़ियों को होटल में ही रहना पड़ेगा. ऐसे में खिलाड़ियों से इस बारे में विचार विमर्श करना होगा.

आईसीसी ने बहाल की जिम्‍बाब्‍वे और नेपाल के क्रिकेट बोर्ड की सदस्‍यता

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि पीसीबी ने सिल्वा के बयान पर नाखुशी जताते हुए इसे गलत बताया है. पीसीबी का कहना है कि श्रीलंका के कहने पर पहली बार किसी टीम को राष्ट्रपति स्तर की सुरक्षा दी गई. श्रीलंका की टीम को होटल से बाहर सैर कराने की पेशकश की गई थी. लाहौर में शॉपिंग कराने की पेशकश की गई थी. उन्हें गोल्फ खिलाने के लिए भी ले जाने की पेशकश की गई थी. सिंध और पंजाब के मुख्यमंत्रियों ने श्रीलंका टीम के लिए रात्रिभोज का इंतजाम किया था. लेकिन, श्रीलंका टीम प्रबंधन ने इन सभी को अस्वीकार कर दिया था और होटल में ही समय बिताना पसंद किया था. ऐसे में सिल्वा का यह बयान सही नहीं है.

सूत्रों ने बताया कि पीसीबी का स्पष्ट रुख है कि होम टेस्ट सीरीज पाकिस्तान में होगी. अगर श्रीलंका प्रबंधन इस सीरीज को पाकिस्तान से बाहर खेलना चाहता है तो इसका खर्च उसे ही उठाना होगा. पीसीबी का मानना है कि पाकिस्तान में सुरक्षा हालात अब बेहतर हैं.

Vijay Hazare: प्रियाक पांचाल के शतक से गुजरात ने जम्‍मू-कश्‍मीर पर दर्ज की 8 विकेट से जीत