नई दिल्ली. पहले वनडे में भारतीय गेंदबाजों पर धावा बोलने वाले वेस्टइंडीज के युवा बल्लेबाज़ शिमरोन हेटमायर ने कहा कि खराब फार्म से उबरने के लिये उन्होंने ब्रायन लारा की मदद ली थी. हेटमायर ने कहा कि लारा से उन्हें बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है. हेटमायर ने भारत के खिलाफ पहले वनडे में 78 गेंदों पर छह चौकों और इतने की छक्‍कों की मदद से 106 रन बनाये. लेकिन वनडे से पहले टेस्ट सीरीज में उनका बल्ला खामोश था. वो 4पारियों में सिर्फ 50 रन ही बना सके थे . Also Read - INDvsWI: 140 किलो वजन के इस खिलाड़ी ने भारत के खिलाफ खेला डेब्यू मैच, तोड़ दिया ये रिकॉर्ड

Also Read - INDvsWI: मयंक-कोहली के बाद विहारी और पंत ने संभाली पारी, पहले दिन का खेल खत्म, ये है मैच का हाल

धोनी को वाइजैैग का ‘मैदान’ पसंद है, विराट को ‘शहर’ पसंद है Also Read - INDvsWI: भारत व वेस्टइंडीज टेस्ट के पहले दिन हुआ कुछ ऐसा, सर विवियन रिचडर्स पहुंच गए अस्पताल

ब्रायन लारा से ली सीख

वाइजैग वनडे से पहले हेटमायर ने कहा ,‘मैं ब्रायन लारा को आदर्श मानता रहा हूं. उनके अधिकांश शॉट्स स्वाभाविक रूप से सीख गया हूं. मैं स्वाभाविक खेल दिखाता हूं और गेंद के हिसाब से शॉट खेलता हूं.’ उन्होंने कहा ,‘मैंने अतीत में कुछ महान खिलाड़ियों से बात की है जिनमें लांस गिब्स, सर विवियन रिचर्ड्स और ब्रायन लारा शामिल हैं. यह जानकर अच्छा लगता है कि वे आपके साथ हैं.’ हेटमायर ने कहा,‘उन्होंने मुझसे अपना स्वाभाविक खेल दिखाने को कहा है. उन्होंने कहा कि गेंद को देखकर शॉट खेलो. उन्होंने हरसंभव मदद की कोशिश की जिससे लगा कि बल्लेबाजी आसान है.’

वाइजैग में खतरा बन सकते हैं हेटमायर

गुवाहाटी वनडे में अपनी पारी के बारे में हेटमायर ने कहा ,‘टेस्ट सीरीज में किए खराब प्रदर्शन को मैं भुलाना चाहता था, जिसमें सीनियर खिलाड़ियों ने मेरी मदद की.’ हेटमायर ने अब तक खेले 13 वनडे मैचों में 45 की औसत से 585 रन बनाए हैं, जिसमें 3 शतक दर्ज हैं. ऐसे में ये खिलाड़ी वाइजैग में भी टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा बन सकता है.