लखनऊ: सलामी बल्लेबाज शाई होप की शानदार शतकीय पारी की बदौलत वेस्‍टइंडीज ने अफगानिस्‍तान को तीसरे और आखिरी वनडे में पांच विकेट से हराकर श्रृंखला 3-0 से जीत ली. वर्ष 2014 के बाद पहली बार वनडे सीरीज में क्‍लीन स्‍वीप के इरादे से उतरी वेस्‍टइंडीज के एविन लेविस (01) और शिमरॉन हेटमेयर (00) के विकेट तीसरे ओवर में ही गिर जाने के बाद सारी उम्‍मीदें एक बार फिर होप पर टिकी थीं, जिन पर खरा उतरते हुए उन्‍होंने अपने कैरियर का सातवां शतक जड़ा और टीम को जीत‍ दिलाकर ही दम लिया. मैन ऑफ द मैच होप ने 145 गेंदों पर 109 रन बनाये. वेस्‍टइंडीज ने आखिरी बार वर्ष 2014 में बांग्‍लादेश के खिलाफ क्‍लीन स्‍वीप किया था. विश्‍वकप टूर्नामेंट से शुरू हुआ अफगानिस्‍तान का निराशाजनक प्रदर्शन इस श्रंखला में भी जारी रहा.

अफगानिस्‍तान ने 250 रन के लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी वेस्‍टइंडीज को शुरू में ही दबाव में ले लिया. नयी गेंद लेकर आये ऑफ स्पिनर मुजीब उर्रहमान ने अपने दूसरे ओवर में ओपनर लेविस और हेटमेयर को पगबाधा आउट करके कैरेबियाई टीम की शुरुआत बिगाड़ दी. महज चार रन पर दो विकेट गिरने के बाद होप और अपना पहला वनडे खेल रहे ब्रैंडन किंग ने पारी को सम्‍भाला और तीसरे विकेट के लिये 64 रन जोड़े. अफगान कप्‍तान राशिद खान ने अपने पहले ही ओवर की दूसरी गेंद पर किंग को 39 रन के निजी स्‍कोर पर बोल्‍ड करके इस साझेदारी को तोड़ा.

इस बीच, रन गति तेज करने के लगातार बढ़ते दबाव के दौरान होप ने ऑफ स्पिनर मोहम्‍मद नबी के सातवें ओवर में दो जोरदार छक्‍के मारकर टीम को राहत दिलाने की कोशिश की. किंग और निकोलस पूरन (21) के आउट होने के बाद कप्‍तान कीरोन पोलार्ड ने 35वें ओवर में स्पिनर शरफुद्दीन अशरफ की आखिरी तीन गेंदों पर एक चौका और दो छक्‍के लगाये. हालांकि नबी ने 38वें ओवर में खतरनाक पोलार्ड (32) को शॉर्ट मिडविकेट पर नजीबउल्‍ला जादरान के हाथों कैच आउट करा दिया. पोलार्ड ने 26 गेंदों में 32 रन बनाये.

दूसरे छोर पर होप टिके रहे और उन्‍होंने 133 गेंद पर अपना शतक पूरा किया. इसके साथ ही वह अफगानिस्‍तान के खिलाफ वनडे मुकाबलों में शतक बनाने वाले पहले कैरेबियाई बल्‍लेबाज बन गये. बाद में रोस्‍टन चेज (42) और होप ने आठ गेंदें शेष रहते विंडीज को मंजिल तक पहुंचा दिया. अफगानिस्‍तान की तरफ से मुजीब ने दो, जबकि शरफुद्दीन, नबी और राशिद ने एक-एक विकेट लिया.

टूर्नामेंट में हरफनमौला प्रदर्शन करने वाले चेज को मैन ऑफ द सीरीज घोषित किया गया. इसके पूर्व, खराब शुरुआत के बाद अनुभवी बल्‍लेबाजों असगर अफगान (86) और मुहम्‍मद नबी (50) की संकटमोचक पारियों की बदौलत अफगानिस्‍तान ने वेस्‍टइंडीज को 250 रन का लक्ष्‍य दिया.

भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍टेडियम में टॉस हारकर पहले बल्‍लेबाजी करने उतरी अफगानिस्‍तान शुरुआत एक बार फिर खराब रही और 65 रन के स्‍कोर पर उसके तीन बल्‍लेबाज आउट हो गये. उसके बाद सलामी बल्‍लेबाज हजरतउल्‍ला जजई और नजीबउल्‍ला जादरान (30) ने पारी को सम्‍भाला.

पहले ही 0-2 से सीरीज गंवा चुके अफगानिस्‍तान के शीर्ष क्रम ने सीरीज के शुरुआती दो मैचों में मिली हार से कोई सबक नहीं सीखा. तीसरे और आखिरी वनडे में भी अफगा‍न बल्‍लेबाज जल्‍दबाजी में नजर आये और उनमें से किसी ने भी क्रीज पर जमने को तरजीह नहीं दी. महज 118 रन पर पांचवां विकेट गंवाने के बाद टीम के सबसे अनुभवी बल्‍लेबाजों असगर अफगान और मोहम्‍मद नबी ने पारी को सम्‍भाला. दोनों ने छठे विकेट के लिये 127 रन की साझेदारी की.

शुरू में बेहद संयम से खेलने के बाद आखिरी ओवरों में दोनों ने हाथ खोले. खासकर अफगान ज्‍यादा आक्रामक रहे. उन्‍होंने छह छक्‍के और तीन चौके जड़े. वह 49वें ओवर में तेज गेंदबाज अलजारी जोसेफ की गेंद को कवर के ऊपर से हिट करने की कोशिश में उसे मिसटाइम कर गये और शॉर्ट थर्डमैन पर खड़े रोमारियो शेफर्ड के हाथों कैच आउट होने के साथ उनकी शानदार पारी का अंत हो गया.

इस बीच, नबी ने शेफर्ड की गेंद पर एक रन लेकर 66 गेंद में अपना 15वां अर्द्धशतक पूरा किया. उन्‍होंने अपनी पारी में तीन चौके और एक छक्‍का लगाया. वेस्‍टइंडीज की तरफ से कीमो पॉल ने तीन, जोसेफ ने दो जबकि शेफर्ड और रोस्‍टन चेज ने एक-एक विकेट लिया.