नई दिल्ली : वेस्टइंडीज के टी20 कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट ने स्वीकार किया कि 0-3 से सूपड़ा साफ होना ‘शर्मनाक’ है लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि सीमित संसाधनों के साथ हाल में संपन्न श्रृंखला में उनकी टीम ने जो जुझारूपन दिखाया वह उनकी पहचान रहा. भारत ने रविवार को चेन्नई में अंतिम टी20 में गत विश्व चैंपियन टीम को छह विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में क्लीनस्वीप किया. Also Read - India vs England T20i: राहुल तेवतिया की जगह टीम इंडिया में शामिल होगा ये धाकड़ गेंदबाज! मुंबई इंडियंस के लिए करता है कमाल

Also Read - MP: एयर एम्बुलेंस से चेन्नई भेजे गए मध्य प्रदेश के "कोरोना योद्धा" डॉक्टर ने तोड़ा दम

ब्रेथवेट ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘मेरे कहने का मतलब है कि 3-0 बुरा लगता है और कप्तान के रूप में यह मेरे लिए भी शर्मनाक है. लेकिन हमने जो प्रदर्शन किया और टक्कर दी, यह देखते हुए कि हमें सीमित संसाधनों में अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता दिखानी थी, मुझे लगता है कि यह इस संक्षिप्त श्रृंखला में हमारे प्रदर्शन की पहचान रहा.’’ Also Read - घरेलू मैदान चेन्नई में शतक लगाकर रविचंद्रन अश्विन ने बनाया विश्व रिकॉर्ड; कैलिस-सोबर्स से आगे निकले

शिखर धवन ने तोड़ा रोहित शर्मा का रिकॉर्ड, टी-20 इंटरनेशनल मैचों में किया ये कारनामा

उन्होंने कहा, ‘‘टीम का मनोबल बढ़ा हुआ है. एक समूह के रूप में हम अपने संसाधनों का सर्वश्रेष्ठ उपयोगी करने का प्रयास कर रहे हैं. पहले मैच में हमने कड़ी टक्कर दी, हमने गेंद से अपनी क्षमता दिखाई.’’ ब्रेथवेट ने कहा, ‘‘दूसरे मैच में हम कुछ नहीं कर पाए और तीसरे मैच में हमने शानदार बल्लेबाजी की. लेकिन बड़ी साझेदारी से मैच हमारी पकड़ से बाहर चला गया. फिर भी हमने अंत तक टक्कर दी.’’

ब्रेथवेट ने युवा बल्लेबाज निकोलस पूरण की तारीफ की जिन्होंने 25 गेंद में 53 रन की पारी खेली. उन्होंने कहा, ‘‘उसने (पूरण) सिर्फ बड़े शाट ही नहीं खेले. उसने कुछ रिवर्स स्कूप भी खेले और पारी को काफी अच्छी तरह गति दी. बेशक उसके मारे छक्के आकर्षण रहे लेकिन यह मत भूलिए कि उसने कितनी धीमी शुरुआत की थी. विकेट की गति से सामंजस्य बैठाना, गेंदबाजों को परखना और फिर शाट खेलने के लिए सही समय का चयन करना.’’

इंटरनेशनल T20 में रोहित शर्मा के 5वें शतक की दिन, जगह और तारीख हुई तय!

ब्रेथवेट ने कहा कि वेस्टइंडीज क्रिकेट को अपने खिलाड़ियों से प्रदर्शन में निरंतरता की दरकार है. कप्तान ने टीम में वापसी कर रहे डेरेन ब्रावो की भी तारीफ की जिन्होंने 43 रन बनाए और अंतिम ओवरों में पूरण के साथ तेजी से रन बटोरे.