इंग्लिश क्रिकेट सीजन शुरू होने से कुछ समय पहले ही कोरोनोवायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। इस महामारी के चलते पूरी दुनिया में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर ब्रेक लग गया है। Also Read - 'आने वाले दस साल में चेन्नई सुपर किंग्स टीम के बॉस होंगे महेंद्र सिंह धोनी'

हालांकि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के अधिकारी अब भी मानते हैं कि उनकी राष्ट्रीय टीम वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया और आयरलैंड के साथ होने वाली वनडे सीरीज को भी एक सीजन में फिट कर सकती है जो कि एक जुलाई से पहले शुरू नहीं हो सकता है। Also Read - US Election 2020: डोनाल्ड ट्रंप Vs जो बाइडेन, जानें कौन हैं और क्या है इनका नजरिया, भारत को होगा फायदा या नुकसान?

वैसे इन मैचों के बिना दर्शकों के खेले जाने की संभावना ज्यादा है। हालांकि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को इसके जरिए ब्रॉडकॉस्ट कॉन्ट्रेक्ट पूरा करने का मौका मिलेगा और सीजन के पूरी तरह रद्द होने का खतरा भी टल जाएगा। बता दें कि अगर ऐसा होता है तो ईसीबी को 380 मिलियन पाउंड का नुकसान झेलना पड़ेगा। Also Read - पीओके में चीन और पाकिस्‍तान के खिलाफ उतरे लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड भी टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड जाने को लेकर सोच-विचार कर रहा है। पीसीबी के सीईओ वसीम खान ने कहा, “हम जुलाई की शुरुआत में इंग्लैंड जाने पर विचार कर रहे हैं ताकि वहां जाकर क्वारेंटाइन का समय भी बिता सके।”

इंग्लैंड का संभावित दौरा करने वाले टीमों में वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के अलावा ऑस्ट्रेलिया का नाम भी शामिल है। इस पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख केविन रॉबर्ट्स ने कहा, “जाहिर है कि हम अपने खिलाड़ियों की सुरक्षा से समझौता नहीं करेंगे। लेकिन अच्छी बात ये है कि हमसे पहले वेस्टइंडीज और पाकिस्तान को इंग्लैंड का दौरा करना है। हम उम्मीद करते हैं कि वो बिना परेशानी के दौरान पूरा करें।”