नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट का एक लंबा इतिहास है. इस दौरान कई रिकॉर्डों की नींव पड़ी. कुछ की फेहरिस्त लंबी है तो कई ऐसे कीर्तिमान हैं जिन्हें आप अपनी उंगलियों पर गिन सकते हैं. मतलब ये कि वैसे रिकॉर्डों के बारे में आपने कभी-कभार ही सुना होगा. टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के पन्नों में दर्ज एक ऐसा ही रिकॉर्ड है, जो 21वीं सदी में पहली बार बनते दिखा है. आखिरी बार ये रिकॉर्ड क्रिकेट फील्ड पर 128 साल पहले बना था और पहली बार इसकी स्क्रिप्ट 139 साल पहले लिखी गई थी.

21वीं सदी में पहली बार

हम यहां किस रिकॉर्ड की बात कर रहे हैं अब जरा वो समझिए. ये रिकॉर्ड है टेस्ट मैच की एक ही पारी में किसी टीम के टॉप ऑर्डर के सभी 5 बल्लेबाजों के क्लीन बोल्ड होने का. टेस्ट क्रिकेट में ऐसा रिकॉर्ड 21वीं सदी में पहली बार बनते दिखा बांग्लादेश और वेस्टइंडीज के खिलाफ ढाका टेस्ट में.

टेस्ट क्रिकेट में तीसरी बार हुआ ऐसा

ढाका टेस्ट में बांग्लादेश के 508 रन के जवाब में वेस्टइंडीज की पहली पारी 111 रन पर सिमट गई. इसमें उसके टॉप ऑर्डर के 5 बल्लेबाज क्लीन बोल्ड हुए. टेस्ट क्रिकेट का ये ऐसा नजारा था जो इससे पहले सिर्फ दो बार ही दिखा था.

1879 में इंग्लैंड के 5 टॉप  बल्लेबाज हुए बोल्ड

टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में पहली बार किसी टीम के टॉप ऑर्डर के सभी 5 बल्लेबाज बोल्ड हुए थे 139 साल पहले यानी 1879 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले टेस्ट में. MCG पर खेले टेस्ट में तब ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर के 5 बल्लेबाजों क्लीन बोल्ड किया था.

1890 में ऑस्ट्रेलिया के 5 टॉप बल्लेबाज बोल्ड हुए

इस तरह का दूसरा नजारा 11 साल बाद यानी 1890 में एक बार फिर से ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच टेस्ट में ही दिखा, जब लंदन के ओवल मैदान पर इंग्लैंड के गेंदबाजों ने एक ही पारी में टॉप ऑर्डर के 5 बल्लेबाजों को क्लीन बोल्ड किया.

128 साल बाद ढाका में रिपीट हुआ रिकॉर्ड

और, अब 128 साल बाद यानी साल 2018 में जो ढाका में हुआ वो इस तरह का तीसरा नजारा है, जिससे न सिर्फ एक पुराने रिकॉर्ड की यादें ताजा हुई बल्कि वेस्टइंडीज पर पारी से हार का खतरा भी मंडराता दिख रहा है.