नई दिल्ली: क्रेग ब्रेथवेट की जुझारू पारी और खराब मौसम के कारण वेस्टइंडीज और श्रीलंका के बीच दूसरा टेस्ट क्रिकेट मैच सोमवार को सेंट लूसिया में ड्रॉ  हो गया. वेस्टइंडीज के सामने सीरीज में अजेय बढ़त लेने के लिये 296 रन का लक्ष्य था लेकिन उसका शीर्ष क्रम लड़खड़ा गया. एक समय उसका स्कोर चार विकेट पर 64 रन था लेकिन वेस्टइंडीज आखिर में पांच विकेट पर 147 रन बनाकर मैच ड्रॉ कराने में सफल रहा.

सलामी बल्लेबाज ब्रेथवेट ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और नाबाद 59 रन की पारी खेली. उन्हें शाई होप (39) और कप्तान जैसन होल्डर (नाबाद 15) का अच्छा साथ मिला. इसके अलावा आखिर सत्र में बारिश और खराब रोशनी के कारण श्रीलंका का सीरीज बराबर करने का सपना पूरा नहीं हो पाया. शैनोन गैब्रियल ने श्रीलंकाई पारी के आखिरी दो विकेट खेल शुरू होने के चंद मिनट बाद ही हासिल कर दिये. श्रीलंका ने पांचवें दिन अपनी दूसरी पारी आठ विकेट पर 334 रन से आगे बढ़ायी और 342 रन पर उसकी पूरी टीम आउट हो गयी.

इंग्लिश कंडीशन में बुझे-बुझे पुजारा, एंडरसन से पहले इस तेज गेंदबाज का बने शिकार

शैनोन ने श्रीलंका की दूसरी पारी में 62 रन देकर आठ विकेट लिये और मैच में 121 रन देकर 13 विकेट हासिल किये जो वेस्टइंडीज के किसी गेंदबाज का तीसरा सर्वश्रेष्ठ और किसी कैरेबियाई गेंदबाज का अपनी सरजमीं पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. उन्होंने अकिला धनंजय के रूप में श्रीलंकाई पारी का आखिरी विकेट लेकर टेस्ट क्रिकेट में 100 विकेट भी पूरे किये. शैनोन को इस प्रदर्शन के लिये ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया. यह टेस्ट श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चंदीमल पर लगे गेंद से छेड़खानी के आरोपों के कारण भी चर्चा में रहा.