सेंट जोंस (एंटिगा), 29 जनवरी | संकट में चल रही वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड (डब्ल्यूआईसीबी) ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के साथ चल रहे विवाद का समाधान निकालने पर जोर दिया है और अगले दो सप्ताह में इसके लिए एक बैठक बुलाई है। गौरतलब है कि डब्ल्यूआईसीबी से बीसीसीआई ने नुकसान भरपाई के रूप में 4.2 करोड़ डॉलर भुगतान करने के लिए कहा है, जिसे डब्ल्यूआईसीबी टालना चाहता है।

समाचार एजेंसी सीएमसी के अनुसार, डब्ल्यूआईसीबी के अध्यक्ष डेव कैमरून ने बीसीसीआई को लिखी एक चिट्ठी में कहा है कि डब्ल्यूआईसीबी इस मामले में ‘द्विपक्षीय या बहुपक्षीय’ चर्चा के लिए तैयार है। कैमरून ने इसके अलावा चर्चा में दो क्रिकेट संघों को मध्यस्थ बनाए जाने या जो भी उचित कदम हो उठाने का प्रस्ताव भी दिया है। उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष अक्टूबर में कैरेबियाई टीम के बीच में भारत दौरा छोड़कर चले जाने के बाद डब्ल्यूआईसीबी पर नुकसान की भरपाई का दावा किया था और भरपाई के अपने दावे पर तय समयसीमा के अंदर जवाब देने के लिए कहा था।

डब्ल्यूआईसीबी की ओर से यह चिट्ठी समयसीमा समाप्त होने के आखिरी दिन आई है। कैमरून ने बीसीसीआई के सचिव संजय पटेल को लिखी चिट्ठी में कहा, “सात नवंबर, 2014 को भेजी चिट्ठी में हमना जो कानूनी पक्ष रखा था, हम आज भी उसी पर कायम हैं। बीसीसीआई के प्रति हम अपनी किसी तरह की देनदारी स्वीकार नहीं करते और द्विपक्षीय या बहुपक्षीय चर्चा के लिए तैयार हैं।”

कैमरून ने कहा, “हम अगले 60 दिनों में किसी भी तरह के आयोजन के दौरान मौका मिलने पर जल्द से जल्द बैठक करना चाहेंगे। हमारा अब भी यही मानना है कि हमारे बीच विवाद को चर्चा के द्वारा सुलझाया जा सकता है, बशर्ते हमारा संयुक्त रूप से क्रिकेट के हित में समाधान निकालने की इच्छा हो।” बीसीसीआई ने पिछले वर्ष नवंबर में डब्ल्यूआईसीबी के खिलाफ भुगतान का दावा किया और नवंबर के मध्य तक प्रतिक्रिया देने समयकी सीमा रखी। हालांकि क्षेत्रीय कैरेबियाई समूह ‘कैरीकॉम’ द्वारा अतिरिक्त समय दिए जाने के लिए कहने पर इसमें 40 दिनों की ढील दी गई थी।