साउथम्पटन। सीरीज हारने की कगार पर पहुंचने के बाद शानदार वापसी करने वाली भारतीय टीम गुरुवार से यहां शुरू हो रहे चौथे टेस्ट में भी जीत की लय कायम रखकर बराबरी के इरादे से उतरेगी. पहले दो टेस्ट में शर्मनाक हार (एडबस्टन में 31 रन से और लॉर्ड्स पर पारी के अंतर से) के बाद विराट कोहली की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए नॉटिंघम में तीसरा टेस्ट 203 रन से जीता. भारतीय टीम अभी भी पांच मैचों की सीरीज में 1- 2 से पीछे है. पिछले टेस्ट के प्रदर्शन को देखकर लग रहा है कि वह सर डॉन ब्रैडमेन की ऑस्ट्रेलियाई टीम के प्रदर्शन को दोहरा सकते हैं जिसने 1936 में दो मैच हारने के बाद एशेज सीरीज जीती थी. इस मैदान पर अभी तक तीन ही टेस्ट हुए हैं. इंग्लैंड ने श्रीलंका (2011) और भारत (2014) के खिलाफ यहां खेला है और भारत को 266 रन से हराया था.Also Read - Happy Birthday MS Dhoni: अपने 41वें बर्थडे पर लंदन पहुंचे एमएस धोनी, फ्रूट केक काट सेलीब्रेट किया बर्थडे, देखें वीडियो

Also Read - IND vs ENG T20I Dream 11 Prediction: आज पहला टी20I मैच, यह बन सकता ड्रीम 11 टीम का सही कॉम्बिनेशन

कोहली की शानदार फॉर्म सोने पर सुहागा Also Read - IND vs ENG- एजबेस्टन टेस्ट नहीं खेलने का रोहित शर्मा को मलाल, बोले- बहुत मुश्किल था बाहर बैठकर मैच देखना

भारतीय टीम यहां अपने पिछले प्रदर्शन से प्रेरणा ले सकती है. भारतीय तेज गेंदबाजों ने इंग्लैंड के शीर्षक्रम की कमजोरी उजागर कर दी है. इसके अलावा कोहली का शानदार फार्म भारत के लिये सोने पे सुहागा साबित हुआ है. अब तक इस सीरीज में 46 में से 38 विकेट तेज गेंदबाजों ने लिये हैं. चौथे टेस्ट में हरी भरी पिच मिल सकती है जो तेज गेंदबाजों की ऐशगाह साबित हो सकती है.

लक्ष्मण ने चुनी ढाई दशक में टीम इंडिया की सबसे मजबूत टीम, गांगुली को चुना कप्तान

बल्लेबाजों का प्रदर्शन भी अच्छा रह है जिससे अंतिम एकादश में किसी बदलाव की गुंजाइश नहीं लगती. इससे संभवत: पिछले 45 मैचों से हर मैच में बदलाव के सिलसिले पर भी रोक लग सकती है. इसकी शुरूआत 2014 में साउथम्पटन से ही हुई थी. कोहली ने 45 में से 38 मैचों में हर बार टीम में बदलाव किया है.

अश्विन की फिटनेस को लेकर चिंता

भारतीय तेज गेंदबाजों ने मंगलवार को लंबा बल्लेबाजी अभ्यास किया हालांकि जसप्रीत बुमराह नहीं उतरे. उमेश यादव, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने बल्लेबाजी अभ्यास किया. नॉटिंघम की पिच सूखी थी जिस पर बुमराह को सीम मिल सकी लेकिन यहां विकेट पर हरियाली है जो यादव को रास आ सकती है. अब देखना यह है कि भारतीय टीम बदलाव करती है या नहीं चूंकि आर अश्विन की फिटनेस को लेकर भी चिंता है.

कूल्हे में खिंचाव के कारण उन्होंने नाटिंघम टेस्ट नहीं खेला. उन्होंने सोमवार को गेंदबाजी भी नहीं की लेकिन मंगलवार को अभ्यास किया. रविंद्र जडेजा ने भी बल्लेबाजी और गेंदबाजी का अभ्यास किया. अश्विन के नहीं खेलने पर जडेजा को उतारे जाने की भी संभावना है. टीम प्रबंधन ने अभी तक कुछ कहा नहीं है. अगर अश्विन नहीं खेल पाते हैं तो टीम प्रबंधन अतिरिक्त बल्लेबाज भी उतार सकता है. करूण नायर ने भी बल्लेबाजी का अभ्यास किया है. इस बीच इंग्लैंड के लिये जॉनी बेयरस्टॉ की फिटनेस चिंता का विषय है. चोटिल बेन स्टोक्स की जगह मोईन खान को टीम में जगह दी गई है.

नॉटिंघम टेस्ट: विराट प्रदर्शन कर कोहली बने मैन ऑफ द मैच, केरल बाढ़ पीड़ितों को समर्पित की जीत

तेज गेंदबाज क्रिस वोक्स ने भी फिटनेस कारणों से अभ्यास नहीं किया. उनके बारे में फैसला बुधवार को ही लिया जायेगा. बेयरस्टॉ के कवर के तौर पर बल्लेबाज जेम्स विंस को बुलाया गया है. इंग्लैंड की चिंता शीर्षक्रम का प्रदर्शन भी है. कीटोन जेनिंग्स पांच पारियों में 94 रन ही बना सके हैं. उनकी जगह जेम्स विंस को उतारा जा सकता है. एलेस्टेयर कुक भी फॉर्म में नहीं है जिन्होंने पांच पारियों में सिर्फ 80 रन बनाये हैं.

भारत :

विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, पृथ्वी साव, के एल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, दिनेश कार्तिक, रिषभ पंत, करूण नायर, हार्दिक पंड्या, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, हनुमा विहारी, इशांत शर्मा, उमेश यादव, शरदुल ठाकुर, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह.

इंग्लैंड :

जो रूट (कप्तान) , एलेस्टेयर कुक, कीटोन जेनिंग्स, जानी बेयरस्टा, जोस बटलर, ओलिवर पोप, मोईन अली, आदिल रशीद, सैम कुरेन, जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्राड, क्रिस वोक्स, बेन स्टोक्स, जेम्स विंस.