नागपुर। श्रीलंका के खिलाफ वनडे से आराम दिए जाने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली का टी20 सीरीज में खेलना भी तय नहीं है और वह टीम प्रबंधन और चयन समिति से इस हफ्ते सलाह मशविरा करने के बाद इस पर फैसला करेंगे. चयन मामलों की जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर पीटीआई को बताया कि विराट ने चयनकर्ताओं से कहा है कि उन्हें यह फैसला करने के लिए कुछ समय चाहिए कि वह टी20 में खेलेंगे या नहीं. यही कारण है कि उन्होंने टी20 टीम की घोषणा नहीं की है. 

Virat Kohli, MS Dhoni to Demand Salary Hike For Players During CoA Chief Meet | क्रिकेटरों की थकान के बाद अब सैलरी का मुद्दा उठाएंगे विराट कोहली

Virat Kohli, MS Dhoni to Demand Salary Hike For Players During CoA Chief Meet | क्रिकेटरों की थकान के बाद अब सैलरी का मुद्दा उठाएंगे विराट कोहली

Also Read - विराट कोहली ने मोहम्मद सिराज को किया प्रेरित, बोले- ये हालात तुम्हें मजबूत बनाएंगे

12 दिसंबर तक विराट व्यस्त Also Read - IND vs AUS: पिता के इंतकाल पर बोले Mohammed Siraj, ऑस्‍ट्रेलिया में रहकर उनका ख्‍वाब पूरा करूंगा

उन्होंने कहा कि 12 दिसंबर तक विराट की कुछ निजी प्रतिबद्धताएं हैं. इसके बाद वह आराम करना चाहेंगे या टी20 खेलेंगे, यह पूरी तरह से उनका फैसला होगा. श्रीलंका के खिलाफ तीन टी20 मैच 20, 22 और 24 दिसंबर को कटक, इंदौर और विशाखापत्तनम में खेले जाएंगे. Also Read - India vs Australia: ऑस्ट्रेलिया से भारत भिड़ने को तैयार, जानें- दोनों टीमों के वनडे में 10 बड़े रिकॉर्ड

राष्ट्रीय चयन समिति और मुख्य कोच रवि शास्त्री और कोहली की मौजूदगी वाला टीम प्रबंधन इस हफ्ते दिल्ली में दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैचों के लिए टीम के चयन के दौरान इस मुद्दे पर फैसला करेगा.  यह भी पता चला है कि तैयारी के लिए समय की कमी को लेकर कोहली की चिंता के बाद फैसला किया जाएगा कि कुछ टेस्ट विशेषज्ञों को दक्षिण अफ्रीका के हालात से सामंजस्य बैठाने के लिए वहां जल्दी भेजा जा सकता है या नहीं.

द. अफ्रीका दौरे पर होगी चर्चा
चयन समिति की बैठक के दौरान दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारी को लेकर विस्तृत चर्चा हो सकती है. तमिलनाडु और सौराष्ट्र के रणजी ट्राफी नॉकआउट में जगह नहीं बनाने से मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा जैसे टेस्ट विशेषज्ञों को दिल्ली में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच के बाद कोई और मैच खेलने को नहीं मिलेगा.

अधिकारी ने कहा कि कुछ लोगों का मानना है कि हमें कुछ 2010 के दक्षिण अफ्रीका दौरे की तरह करना चाहिए जब कुछ बल्लेबाज बाकी खिलाड़ियों से 10 दिन पहले वहां चले गए थे और डरबन में गैरी कर्स्टन अकादमी में ट्रेनिंग की थी. भारत ने तब दक्षिण अफ्रीका में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए सीरीज 1-1 से बराबर की थी।

उन्होंने कहा कि यह उस तरह है जैसा इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया ने किया था जब टेस्ट विशेषज्ञ जल्दी भारत आ गए थे जबकि नए खिलाड़ियों से सजी टी20 टीम श्रीलंका के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में खेली थी. ये कुछ मुद्दे हैं जिन पर चयनकर्ता और टीम प्रबंधन बात कर सकते हैं.