ब्रिटेन में खेले जा रहे साल के तीसरे ग्रैंड स्लैम विंबलडन में पूरी तरह ‘सफेद रंग का ड्रेस कोड’ में खेलने का नियम पूरी सख्ती से लागू किया जाता है. अब तक जूनियर टीम के चार खिलाड़ियों को इस नियम की वजह से अपने अंडरवेयर बदलने पड़े हैं. सबसे पहले गुरुवार को जूनियर डबल्स खिलाड़ियों हंगरी के सोम्बोर पायरस और चीन के वु यिबिंग को को काले और नीले रंग के अंडरवेयर पहनने के कारण मैच को रोककर इसे लॉकर रूम में जाकर चेंज करना पड़ा.

पायरस ने अपने सफेद रंग के शॉर्ट्स के नीचे नीले रंग के अंडरवेयर पहने थे जबकि उनके 17 वर्षीय साथी खिलाड़ी वु ने काले रंग की अंडरवेयर पहन रखी थी. इन दोनों को ही सफेद रंग का ड्रेस कोड न मानने के लिए अधिकारियों ने मैच रोककर अंडरवेयर चेंज करने के लिए वापस भेज दिया.

उनके एक विपक्षी खिलाड़ी ब्राजील के जोआओ रीस डि सिल्वा पर भी इस नियम को न मानने के लिए अंडरवेयर चेंज करने को कहा गया लेकिन उनसे इसका विरोध किया और कहा कि उसकी ग्रे रंग की अंडरवेयर को स्वीकार की जानी चाहिए. हालांकि बाद में उन्होंने अंडरवेयर बदल ली लेकिन इसके लिए 30 मिनट का समय लगाया और मैच आधे घंटे बाद ही शुरू हो सका.

हालांकि रोचक बात ये है कि पहले दौर में जीतने वाली पायरस-वु की जोड़ी सफेद अंडरवेयर पहनने के बाद दूसरे राउंड का मैच हार गई. उनका कहना है कि उनकी नीले और काले रंग की अंडरवेयर्स उनके लिए लकी थीं.

गुरुवार को ही एक और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी जुरिज रोदिओनोव को नीले रंग की अंडरवेयर पहनने के कारण मैच के बीच में ही रोका गया और एक महिला अधिकारी ने जांच के बाद उन्हें अंडरवेयर बदलने को कहा. हालांकि रोदिओनोव ने अंडरवेयर बदलने के बाद भी अपना अच्छा खेल जारी रखा और अपना मैच जीतते हुए क्वॉर्टर फाइनल में जगह बनाई.

इससे पहले पिछले हफ्ते पहले राउंड के मैच के दौरान पांच बार की चैंपियन अमेरिका की स्टार टेनिस खिलाड़ी वीनस विलियम्स को वर्षा प्रभावित एक मैच में अपनी ब्रा बदलनी पड़ी थी क्योंकि उनकी पिंक रंग के स्ट्रैप्स दिख रहे थे. हालांकि वीनस ने इस बारे में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया और कहा, ‘मैं अंडरगारमेंट्स के बारे में कुछ भी नहीं कहना चाहती हूं.’

दो साल पहले कनाडा की स्टार युजिनी बुचार्ड अपने सफेद टॉप के नीचे काले रंग की ब्रा पहनने के कारण अधिकारियों के निशाने पर आई थीं.