ऑस्ट्रेलिया ने पिछले साल इंग्लैंड में 2-2 से ड्रॉ खेलने के बाद एशेज बरकरार रखी लेकिन ओवल में अंतिम टेस्ट में मिली हार अब भी स्टीव स्मिथ को कचोटती है जो चार टेस्ट में 110.57 की औसत से 774 रन बनाकर सीरीज के स्टार रहे थे. Also Read - लद्दाख गतिरोध: भारत-चीन ने जारी किया संयुक्त बयान, फ्रंटलाइन पर और जवान नहीं भेजेंगे दोनों देश, जारी रहेगी वार्ता

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी के मुख्य स्तंभ हैं स्मिथ Also Read - भारत में 10 लाख की आबादी पर कोरोना के 4000 मामले और 64 मौतें, देश का रिकवरी रेट 80 प्रतिशत से अधिक

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी के मुख्य स्तंभ स्मिथ अपने करियर को अलविदा कहने से पहले दो चुनौतियों को पार करना चाहते हैं, एक तो चिर प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड को उसकी ही मांद में हराना और दूसरा भारत में टेस्ट सीरीज में सफलता हासिल करना. Also Read - IPL 2020 RR vs CSK Preview: बुलंद हौसलों के साथ आज राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ उतरेंगे चेन्नई के 'सुपरकिंग्स'

भारतीय टीम पर टेस्ट में जीत स्मिथ की सूची में सबसे ऊपर है

31 साल के इस खिलाड़ी ने 2017 में भारत में चार टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान तीन शतक जड़े थे लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम 1-2 से हार गई थी और विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम पर टेस्ट में जीत उनकी सूची में सबसे ऊपर है.

आॉस्ट्रेलिया को अक्टूबर 2022 में भारत का दौरा करना है.

स्मिथ ने क्रिकेटडाटकॉमडाटएयू से कहा, ‘ये दोनों बड़े पहाड़ हैं जिन्हें चढ़ना है और अगर आप ऐसा कर सकते हो तो यह काफी विशेष होगा. उम्मीद करता हूं कि मैं ऐसा कर पाऊं, देखते हैं कि हम कैसा करते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मेरी उम्र भी अब बढ़ रही है. नहीं जानता कि कितने और साल का क्रिकेट बचा है और कुछ नहीं कह सकते कि भविष्य में क्या है. लेकिन इन चीजों का लक्ष्य बना रहेगा, यह निश्चित है.’