नई दिल्ली : अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर 2010 के बाद पहली बार टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय महिला क्रिकेट टीम को शनिवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी अभी तक की सबसे कठिन चुनौती का सामना करना है. भारत के लिए इस मैच में हार उसे नुकसान नहीं पहुंचाएगी क्योंकि लगातार तीन मैच जीत कर वह पहले ही सेमीफाइनल में पहुंच चुकी, लेकिन सेमीफाइनल में मनोबल के लिए हरमनप्रीत कौर की टीम को जीत जरूरी है.

भारत ने अपने पहले मैच में न्यूजीलैंड, दूसरे मैच में पाकिस्तान और गुरुवार रात खेले गए मैच में आयरलैंड को मात देकर जीत की हैट्रिक लगाते हुए अंतिम-4 में प्रवेश किया. वहीं ऑस्ट्रेलिया भी तीन मैचों में तीन जीत के साथ सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है. उसके लिए भी यह मैच सेमीफाइनल की तैयारी के लिहाज से अहम होगा.

भारत ने तीनों मैचों में खेल के तीनों श्रेत्रों में एकतरफा प्रदर्शन किया है. पहले मैच में हरमनप्रीत ने शतक जमाया था तो वहीं दूसरे और तीसरे मैच में मिताली राज ने लगातार दो अर्धशतक जड़े हैं. इन दोनों पर भारत की बल्लेबाजी का भार है. स्मृथि मंधाना ने तीसरे मैच में 33 रनों की पारी खेली थी. मंधाना को एक बड़ी पारी का इंतजार होगा.

डुप्लेसिस ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को दी सलाह, कहा – कोहली को शांत रखना है तो चुप रहना

इन तीन के अलावा भारत की बल्लेबाजी वेदा कृष्णामूर्ति, डायलाना हेमलता पर भी काफी हद तक निर्भर है, लेकिन यह दोनों अभी तक कुछ बड़ा काम नहीं कर पाई हैं. भारतीय टीम की समस्या उसका मध्यक्रम और निचला क्रम है. अगर टीम का शीर्ष क्रम कमजोर पड़ता है तो मध्य क्रम और निचला क्रम टीम को संभाल पाने में कई बार लड़खड़ा जाता है. गेंदबाजी में भारतीय टीम की स्पिन तिगड़ी काम कर रही है. पूनम यादव, राधा यादव और दीप्ती शर्मा न सिर्फ विकेट निकाल रही हैं बल्कि रनों पर ही अंकुश लगा रही हैं.

आस्ट्रेलियाई टीम के लिए भी यह मैच इस टूर्नामेंट की अभी तक की सबसे बड़ी चुनौती है क्योंकि भारत का प्रदर्शन देख वह उसे हल्के में नहीं ले सकती. ऑस्ट्रेलिया भी जानती है कि भारत खिताब की प्रबल दावेदार ऐसे ही नहीं है.

IPL 2019 से पहले 71 खिलाड़ी हुए बाहर, जानें किस टीम ने किसे दी जगह

इस मैच में एक बार फिर उसकी बल्लेबाजी कप्तान मेग लेनिंग के जिम्मे होगी. एलिसे हिली इस टूर्नामेंट में अच्छा करती आई हैं. इन दोनों के अलावा बेथ मूनी और एलिसे विलानी टीम की बल्लेबाजी में अहम योगदान देने का माद्दा रखती हैं. गेंदबाजी में मेगन शट ऑस्ट्रेलिया की मजबूत कड़ी हैं. वहीं एश्ले गार्डनर, जेस जोनासेन से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी.

टीमें (सम्भावित) :

भारत : हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना, मिताली राज, जेमिमाह रोड्रिगेज, वेदा कृष्णामूर्ति, दीप्ति शर्मा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), पूनम यादव, राधा यादव, अनुजा पाटिल, एकता बिष्ट, डायलान हेमलता, मानसी जोशी, पूजा वस्त्राकर, अरुं धति रेड्डी.

ऑस्ट्रेलिया : मेग लेनिंग (कप्तान), निकोले बोल्टन, निकोले कारे, एश्ले गार्डनर, रचेल हायनेस, एलिसे हिली, जेस जोनासेन, डेलिसा किममिंसे, सोफी मोलीनेयुक्स, बेथ मूनी, एलिसे पैरी, मेगन शट, एलिसे विलानी, टायला वालेमिनक, जॉर्जिया वारेहैम.