भारत के लिए 8 वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट मैच खेलने वाला यह पूर्व ऑलराउंडर बॉल टेंपरिंग मामले के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट की बदलाव की मुश्किल स्थिति का हिस्सा रहा है जिसमें खिलाड़ियों को निलंबित करने के साथ टीम के बर्ताव को सुधारने के लिए कड़े कदम उठाए गए थे. ऑस्ट्रेलियाई टीम के स्पिन गेंदबाजी कोच श्रीधरन श्रीराम का कहना है कि केपटाउन टेस्ट में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण के बाद कोच जस्टिन लैंगर के मार्गदर्शन और टिम पेन की अद्भुत कप्तानी के कारण एशेज सीरीज में सफलता मिली. Also Read - डेविड वॉर्नर और सुरेश रैना IPL पॉवरप्ले के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं : ब्रैड हॉग

इस पूरी घटनाक्रम से जुड़ी वेब सीरीज ‘द टेस्ट’ के दो एपिसोड में श्रीराम की भूमिका दिखाई गई है. जिसके बारे में उन्होंने कहा कि इसमें सब कुछ वास्तविक है कुछ भी ऐसा नहीं है जिसे दोबारा फिल्माया गया हो. Also Read - धवन की हालत को देख वार्नर की छूटी हंसी, शोएब मलिक ने पूछा क्‍या डील हुई है ?

‘टीम इंडिया को वनडे में 5वें नंबर के लिए सुरेश रैना और युवराज सिंह जैसे बल्लेबाज की जरूरत’ Also Read - बेटियों का ख्याल रखकर सेल्फ आइसोलेशन के दिन बिता रहे हैं डेविड वार्नर, नाम रखा Bulls Daycare

टीम को हालांकि लैंगर के मार्गदर्शन और पेन के नेतृत्व की अद्भुद क्षमता का काफी फायदा हुआ.

श्रीराम ने कहा, ‘आप जो देख रहे है (वेबसीरीज) वह पूरी तरह से वास्तविक है. किसी भी चीज को दोबारा नहीं फिल्माया गया है. सभी विजुवल वास्तविक हैं.’ आठ एपिसोड की इस वेबसीरीज का मुख्य आकर्षण लैंगर के चेहरे की भावभंगिमा, कप्तान के तौर पर पेन की क्षमता का निखरना और स्टीव स्मिथ तथा डेविड वार्नर जैसे खिलाड़ियों का टीम से फिर से जुड़ना मुख्य आकर्षण है.

श्रीराम ने कहा, ‘मुझे लगता है कि केपटाउन से एशेज के अंत तक की यह हमारी (ऑस्ट्रेलियाई टीम की) यात्रा की एक शानदार कहानी है. मैं खुद को इसका हिस्सा होने पर बहुत भाग्यशाली मानता हूं.’

रैना दूसरी बार बने पिता, पत्नी प्रियंका ने दिया बेटे को जन्म, CSK ने कुछ इस अंदाज में दी बधाई

ऑस्ट्रेलियाई प्रणाली से जुड़ने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘जैसा कि मैंने कहा, मैं इस यात्रा का हिस्सा बनने के लिए खुद को बहुत भाग्यशाली मानता हूं और यह लोगों के साथ काम करने का एक बड़ा समूह है.’