विश्व एथलेटिक्स (World Athletics) ने अंजू बॉबी जॉर्ज (Anju Bobby George) को ‘वुमेन ऑफ द ईयर’ अवॉर्ड से सम्मानित किया है. भारत में खेल को आगे बढ़ाने के प्रयासों के साथ महिलाओं को प्रेरित करने वाली अंजू बॉबी जॉर्ज ने साल 2003 में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप (World Championships 2003) के लॉन्ग जंप मे कांस्य पदक अपने नाम किया था.Also Read - Engineering Export Goods: भारत के इंजीनियरिंग सामानों का निर्यात 54 फीसदी बढ़ा

विश्व एथलेटिक्स ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘पूर्व अंतर्राष्ट्रीय लंबी कूद खिलाड़ी भारत की अंजू बॉबी जॉर्ज अभी भी खेल से जुड़ी है. उसने 2016 में युवा लड़कियों के लिये प्रशिक्षण अकादमी खोली जिससे विश्व अंडर 20 पदक विजेता निकली है. भारतीय एथलेटिक्स महासंघ की सीनियर उपाध्यक्ष होने के नाते वह लगातार लैंगिक समानता की वकालत करती आई हैं. वह खेल में भविष्य में नेतृत्व के लिये भी स्कूली लड़कियों का मार्गदर्शन कर रही हैं.’’ Also Read - Republic Day 2022: भारत-पाकिस्तान सीमा पर BSF जवान 'हाई-अलर्ट' पर

Also Read - Highlights IND vs SA 3rd ODI: जीतते-जीतते हार गया भारत, साउथ अफ्रीका ने 3-0 से किया क्‍लीन स्‍वीप

अंजू ने कहा कि वह यह सम्मान पाकर गौरवान्वित और अभिभूत हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सुबह उठकर खेल के लिए कुछ करने से बेहतर अहसास कुछ नहीं है.मेरे प्रयासों को सराहने के लिए धन्यवाद.”

इंडियन एथलेटिक्स फेडरेशन की सीनियर वाइस प्रेसिडेंट बॉबी जॉर्ज ने साल 2016 में युवा लड़कियों के लिए ट्रेनिंग एकेडमी खोली थी, जिसने अंडर-20 पदक विजेताओं को तैयार किया.

आईएएएफ विश्व एथलेटिक्स फाइनल्स- 2005 की स्वर्ण पदक विजेता अंजू बॉबी जॉर्ज 6.83 मीटर कूद के साथ ओलंपिक खेल 2004 में छठे स्थान पर रही थी, लेकिन अमेरिका की मरियन जोन्स को डोपिंग आरोपों के कारण अयोग्य घोषित किए जाने के बाद बॉबी जॉर्ज पांचवां स्थान दिया गया था.