लीड्स: आईसीसी विश्व कप-2019 में हेडिंग्ले स्टेडियम में भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए मैच के दौरान स्टेडियम के ऊपर से एक के बाद एक, तीन हवाई जहाज निकले जिन पर राजनैतिक संदेश लिखे हुए थे. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अब इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने भारतीय खिलाड़ियों और फैंस की सुरक्षा को लेकर आश्वासन की मांग की है.

बीसीसीआई ने अपने पत्र में आईसीसी से कहा है कि यह हैरानी करने की वाली बात है कि हेडिंग्ले में मैच के दौरान कैसे तीन विमान राजनीतिक नारों के साथ अलग-अलग समय पर स्टेडियम के ऊपर से गुजर गए. बीसीसीआई के सीईओ राहुल जोहरी ने आईसीसी को लिखे पत्र में कहा कि बीसीसीआई की ओर से, मैं यह ध्यान दिलाना चाहता हूं कि आज हुई घटना को हम बेहद गंभीरता से लेते हैं. हम आईसीसी और ईसीबी से अनुरोध करते हैं कि हमें आश्वासन दिया जाए कि आगे के खेलों में ऐसी कोई घटना नहीं होगी. इसके अलावा हम यह भी आश्वासन चाहते हैं कि भारतीय क्रिकेट टीम और भारतीय प्रशंसकों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

आईसीसी के टूर्नामेंट प्रमुख क्रिस टेटली, इस घटना के लिए पहले ही बीसीसीआई से माफी मांग चुके हैं. उन्होंने कहा कि ईमेल के लिए आपका धन्यवाद. हां, हम बैनरों से अवगत हैं. आज सुबह स्टेडियम के ऊपर से दो विमान उड़े. आईसीसी ने बाद में एक बयान जारी कर कहा है कि यह एक बार दोबारा हुआ इस पर हमें खेद है. हम आईसीसी विश्व कप में किसी तरह के राजनीतिक संदेश की अनदेखी नहीं कर सकते. पूरे टूर्नामेंट के दौरान हमने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर काम किया है ताकि इस तरह के विरोध को रोका जाए. पहले हुए वाकये के बाद वेस्ट यार्कशायर पुलिस ने हमें आश्वस्त किया था कि इस तरह की चीजें दोबारा नहीं होंगी. इसलिए ऐसा दोबारा हुआ इससे हम निराश हैं.

गौरतलब है कि भारत-श्रीलंका मैच के दौरान स्टेडियम के ऊपर से एक के बाद एक तीन हवाई जहाज निकले जिन पर राजनैतिक संदेश लिखे हुए थे. पहले हवाईजहाज निकला, जिसके सहारे एक बैनर लटका हुआ था और उस बैनर पर लिखा था-‘कश्मीर के लिए न्याय’. इसी के बाद एक और हवाई जहाज निकला जिस पर एक और बैनर लगा हुआ था और उस पर लिखा था- ‘भारत नरसंहार बंद करो और कश्मीर को आजाद करो’. इन दोनों विमानों के बाद एक और विमान स्टेडियम के ऊपर से गुजरा जिसके बैनर पर लिखा था कि भारत में मॉब लिंचिंग बंद की जाए. इसे लेकर आईसीसी नाराज दिखी और उसने मैनचेस्टर तथा बर्मिंघम की पुलिस से बात की. पुलिस ने आईसीसी को भारोसा दिलाया कि वह इन दो शहरों के स्टेडियम के आस-पास के इलाके को नो फ्लाइंग जोन घोषित करेगी.