लंदन. खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही मेजबान इंग्लैंड मंगलवार को यहां ऐतिहासिक लॉर्डस स्टेडियम में चिर-प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया से भिड़ेगी. छह मैचों में चार जीत दर्ज करते हुए इंग्लैंड तालिका में चौथे स्थान पर काबिज है. खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही मेजबान टीम को अब अंतिम-4 में अपनी जगह सुनिश्चित करने के लिए बाकी बचे तीन में से दो मैच जीतने होंगे. इंग्लैंड के लिए हालांकि, यह काम आसान नहीं होगा क्योंकि उसे ऑस्ट्रेलिया के बाद न्यूजीलैंड और भारत का सामना करना होगा. पिछले 27 वर्षों में विश्व कप में इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड के खिलाफ एक भी मैच नहीं जीत पाई है.

कप्तान इयोन मॉर्गन की टीम पर उसी प्रकार की क्रिकेट खेलने का दबाव होगा जो वे पिछले दो साल से खेलते आए हैं. जेसन रॉय का चोटिल होकर बाहर होना टीम के लिए बड़ा झटका है. दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया ने अभी तक इस टूर्नामेंट में दमदार प्रदर्शन किया है. वे छह में से पांच मैच जीतकर तालिका में दूसरे स्थान पर काबिज है. उसके सलामी बल्लेबाजी दमदार फॉर्म में हैं और हर मैच में रन बना रहे हैं. तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क के नेतृत्व में गेंदबाजों ने भी दमदार प्रदर्शन करते हुए अहम मौकों पर विकेट चटकाए हैं. ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस की वापसी ने आस्ट्रेलिया को और मजबूत कर दिया है.

इंग्लैंड के खिलाफ हालांकि, ऑस्ट्रेलिया का मौजूदा फॉर्म निराशाजनक रहा है. ऑस्ट्रेलिया को पिछले 10 में से नौ वनडे मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा. यह मैच बहुत महत्वपूर्ण है और दोनों ही टीमें जीत दर्ज करते हुए टूर्नामेंट में अपनी स्थिति और मजबूत करना चाहेगी, जबकि लॉर्डस में दर्शक एक रोमांचक मैच की उम्मीद कर रहे होंगे.

टीम :

इंग्लैंड : इयोन मॉर्गन (कप्तान), मोइन अली, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), जोस बटलर, टॉम कुरैन, लियाम डॉसन, लियाम प्लंकट, आदिल राशिद, जोए रूट, बेन स्टोक्स, जेम्स विंसे, क्रिस वोक्स, मार्क वुड.

आस्ट्रेलिया : एरॉन फिंच (कप्तान), जेसन बेहरनडार्फ, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), नाथन कल्टर नाइल, पैट कमिंस, उस्मान ख्वाजा, नाथन लॉयन, शॉन मार्श, ग्लैन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, स्टीव स्मिथ, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस, डेविड वार्नर, एडम जाम्पा.