नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के हाथों दक्षिण अफ्रीका की हार के साथ आईसीसी विश्व कप 2019 (World Cup 2019) के सेमीफाइनल लाइनअप की तस्वीर उभरकर सामने आने लगी है. जैसा कि पहले भी उम्मीद जताई गई थी, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, भारत और ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल में पहुंचते दिख रहे हैं. वैसे क्रिकेट में साफ-साफ कुछ भी कहना उचित नहीं होता, लेकिन अब तक के रुझानों से यही दिख रहा है कि मौजूदा चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया, मौजूदा उपविजेता न्यूजीलैंड, दो बार का चैम्पियन भारत और पहली बार खिताब की आस लगाए मेजबान इंग्लैंड आगे का सफर तय कर सकते हैं.

इस विश्व कप में कुछ उलटफेर भी हुए हैं और इन्हीं के आधार पर सेमीफाइनल लाइनअप पर फैसला पूरी तरह सुरक्षित रख पाना सम्भव नहीं. पाकिस्तान के हाथों इंग्लैंड की हार ने सबको चौंकाया था. इसी तरह दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज पर बांग्लादेश की हैरतअंगेज जीत ने नई सम्भावनाओं को जन्म दिया है, लेकिन इससे शीर्ष-4 प्रभावित होता नहीं दिख रहा है. भारत और दक्षिण अफ्रीका को छोड़कर सभी टीमों ने अब तक पांच-पांच मैच खेले हैं. भारत ने चार मैच खेले हैं, जबकि दक्षिण अफ्रीका ने छह मैच खेले हैं. अफगानिस्तान (5 मैच, 5 हार) का आगे जाना असंभव है, जबकि पाकिस्तान (5 मैच, 3 अंक) और दक्षिण अफ्रीका (6 मैच, 3 अंक) के लिए रास्ता काफी कठिन है.

NZvSA: कप्तान विलियम्सन के शानदार शतक से न्यूजीलैंड ने दक्षिण अफ्रीका को 4 विकेट से हराया

अफगान टीम को अभी भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज से भिड़ना है, जबकि पाकिस्तान को दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भिड़ना है. दक्षिण अफ्रीका को पाकिस्तान, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया से दो-दो हाथ करना है. इसी तरह वेस्टइंडीज (5 मैच, 3 अंक) और श्रीलंका (5 मैच, 4 अंक) के लिए भी रास्ता कठिन है, क्योंकि आने वाले समय में इन टीनों का सामना अपने से मजबूत टीमों के साथ होना है. वेस्टइंडीज को न्यूजीलैंड और भारत से भिड़ने के अलावा अफगानिस्तान और श्रीलंका से भिड़ना है, जो परिणाम के लिहाज से किसी ओर भी जा सकता है.

मां को दर्द न हो इसलिए 150 km/h की रफ्तार की बॉल की चोट खाकर भी उठ खड़ा हुआ बल्लेबाज

एक टीम ने सबसे अधिक सम्भावना जगाई है और वह है बांग्लादेश. इस टीम ने पांच मैचों में से पांच अंक हासिल किए हैं. उसे दो मैचों में जीत मिली है और दो में हार. एक मैच उसका रद्द हुआ है. अब उसे ऑस्ट्रेलिया, अफगानिस्तान, भारत और पाकिस्तान से भिड़ना है. अगर बांग्लादेश की टीम भारत और ऑस्ट्रेलिया से हार जाती है, पाकिस्तान और अफगानिस्तान को हरा भी देती है तो 9 अंकों के साथ उसका आगे जाना सम्भव नहीं दिखता. इसका कारण यह है कि शीर्ष 4 में शामिल टीमों ने पांच-पांच मैच (भारत को छोड़कर) खेले हैं और सबके आठ अंक हैं. भारत के चार मैचों से सात अंक हैं और सबसे अहम बात यह है कि शीर्ष 4 में शामिल टीमों का नेट रन रेट गुणात्मक में है, जबकि शेष सभी टीमों में वेस्टइंडीज को छोड़कर बाकी सभी का नेट रन रेट ऋणात्मक है. यहां तक की बांग्लादेश का नेट रन रेट माइनस 0.27 से है.

शमी का फिट रहना टीम इंडिया के ट्रेनर की सबसे बड़ी उपलब्धि, पढ़ें क्यों है ऐसा

अब चर्चा करते हैं सेमीफाइनल की ओर अग्रसर टीमों की. इनमें सबसे ऊपर न्यूजीलैंड है, जिसके पांच मैचों से नौ अंक हैं. होने तो 10 चाहिए थे लेकिन इसका एक मैच रद्द हुआ था. इस टीम का नेट रन रेट 2.16 है, जो दूसरे स्थान पर काबिज इंग्लैंड (प्लस 1.86) से लगभग डेढ़ गुना है. कीवी टीम अब तक अजेय है. इसे वेस्टइंडीज, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से भिड़ना है. इस टीम का सेमीफाइनल में पहुंचना तय है, लेकिन शीर्ष 2 में आएगी या नहीं, यह कहना थोड़ा मुश्किल है. मेजबान इंग्लैंड पांच मैचों से आठ अंक लेकर दूसरे स्थान पर है. इस टीम को पाकिस्तान के खिलाफ हार मिली है, लेकिन इसके अलावा इस टीम का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है. इस टीम का भी सेमीफाइनल में पहुंचना तय है, लेकिन हालात से परिचित होने के बावजूद अगर टीम शीर्ष-2 में नहीं आई तो निराशा की बात होगी. इसे आगे श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड से भिड़ना है, जो इसके लिए एसिड टेस्ट साबित होंगे.

World Cup 2019: विश्व कप से बाहर होकर शिखर धवन ने कही इमोशनल बात, शेयर किया Video

World Cup 2019: विश्व कप से बाहर होकर शिखर धवन ने कही इमोशनल बात, शेयर किया Video

तीसरे स्थान पर पांच बार का चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया है. इसके पांच मैचों से आठ अंक हैं और इसका नेट रन रेट प्लस 0.81 है. भारत से मिली हार के अलावा इस टीम ने अपना वर्चस्व दिखाया है. इसे हालांकि अभी न्यूजीलैंड और इंग्लैड जैसी मजबूत टीमों से भिड़ना है, लेकिन इसका सेमीफाइनल में पहुंचना लगभग तय माना जा रहा है. चौथे स्थान पर 2011 का चैम्पियन भारत है. इसके चार मैचों से सात अंक हैं. भारत ने अपने दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराते हुए यह बताने की कोशिश की थी कि इस साल उसकी दावेदारी मजबूत है. भारत ने अपने पिछले मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराया था. यह बेशक बराबरी का मुकाबला नहीं था, लेकिन यह अरबों लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का मौका था, और इस मौके को भुनाकर भारतीय टीम ने ढेर सारा आत्मबल हासिल किया है. उसे हालांकि अभी इंग्लैंड जैसी मजबूत टीमों से भिड़ना है और इस हराते हुए विराट कोहली की टीम अंक तालिका में शीर्ष पर आना चाहेगी. भारत को अभी अफगानिस्तान, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश और श्रीलंका से भी भिड़ना है, जिनके खिलाफ जीत उसके लिए मुश्किल नहीं होगी.