बर्मिघम. आईसीसी विश्व कप-2019 में अब तक सिर्फ एक जीत दर्ज करने वाली दक्षिण अफ्रीका का सामना बुधवार को यहां एजबेस्टन मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ होगा. दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिए यह मैच ‘करो या मरो’ का साबित हो सकता है. इसके मद्देनजर बुधवार को यह टीम विश्व कप में अपना वजूद बचाने के लिए उतरेगी. अपने पहले तीन मैचों में हार झेलने वाली दक्षिण अफ्रीका ने अफगानिस्तान के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन किया और उसकी स्पिन के खिलाफ की कमजोरी दिखने को नहीं मिली थी. इस मैच में दक्षिण अफ्रीका के लिए अच्छी बात यह थी कि उसके सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला लय में आ रहे हैं. अमला ने अफगानिस्तान के खिलाफ आराम से विकेट पर पैर जमाए थे और वो आत्मविश्वास हासिल किया था जो उन्हें आने वाले मैचों में मददगार साबित हो सकता है.

लेकिन अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड में काफी अंतर है. कीवी टीम काफी संतुलित है और बेहतरीन फॉर्म में भी. इस मैच में जीत दक्षिण अफ्रीका को सेमीफाइनल की दौड़ में बनाए रखेगी. अफगानिस्तान के खिलाफ क्विंटन डी कॉक ने भी बेहतरीन पारी खेली थी. कीवी टीम के खिलाफ एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष क्रम को बेहतर करना जारी रखना होगा, जबकि मध्य क्रम को भी अपनी लय में आना होगा खासकर डेविड मिलर और ज्यां पॉल ड्यूमिनी को. गेंदबाजी में कागिसो रबादा और इमरान ताहिर न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों की परीक्षा लेंगे. इन दोनों के अलावा आंदिले फेहुलक्वायो भी अच्छी फॉर्म में हैं, लेकिन सबसे अच्छी बात यह है कि लुंगी नगिदी चोट के बाद वापसी कर रहे हैं और इससे दक्षिण अफ्रीका को काफी मजबूती मिलेगी.

नगिदी का टीम में आना कीवी टीम के लिए चिंता बढ़ा सकता है. उनकी और राबादा की जोड़ी किसी भी बल्लेबाजी क्रम पर कहर बरपा सकती है. 10 टीमों की अंकतालिका में कीवी टीम दूसरे स्थान पर बैठी है. इस टीम के लिए चिंता शुरू से मध्य क्रम रहा है जो निरंतर नहीं हैं. मार्टिन गुप्टिल, कप्तान केन विलियम्सन अच्छी फॉर्म में हैं तो अनुभवी रॉस टेलर भी लय में आ गए हैं. कीवी टीम की गेंदबाज भी शानदार चल रही है. ट्रेंट बाउल्ट उसके लिए तुरुप का इक्का हैं जो दक्षिण अफ्रीका के ऊपरी क्रम को ढेर करने का दम रखते हैं. मैट हेनरी, लॉकी फग्र्यूसन, मिशेल सैंटनर भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं.

टीमें (संभावित) :-

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), टॉम ब्लंडल, ट्रेंट बोल्ट, कोलिन डी ग्रांडहोम, लॉकी फग्र्यूसन, मार्टिन गुप्टिल, टॉम लाथम, कोलिन मनुरो, जिम्मी नीशाम, हेनरी निकोलस, मिशेल सैंटनर, ईश सोढी, टिम साउदी, रॉस टेलर.

दक्षिण अफ्रीका : फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), डेविड मिलर, एडिन मार्कराम, हाशिम अमला, रासी वैन डेर डुसैन, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), कागिसो रबाडा, लुंगी नगिदी, इमरान ताहिर, तबरेज शम्सी, ज्यां पॉल ड्यूमिनी, आंदिले फेहुक्वायो, ड्वयान प्रीटोरियस, क्रिस मौरिस.

(इनपुट – एजेंसी)