भारत की मुख्य तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) 2022 तक स्थगित हुए महिला विश्व कप तक 39 साल की हो जाएंगी लेकिन वनडे में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाली इस खिलाड़ी ने इस टूर्नामेंट में भाग लेने की उम्मीद नहीं छोड़ी है और उनका कहना है कि व लगातार प्रदर्शन करते हुए टीम में जगह बनाने की कोशिश करेंगी। झूलन और भारतीय कप्तान मिताली राज जैसी महिला धुरंधरों के लिये न्यूजीलैंड में 2021 विश्व कप अंतिम होने की उम्मीद थी। Also Read - कप्तान से पहले बल्लेबाजी करने उतरने पर खुद भी हैरान थे सैम कर्रन, कहा- जीनियस हैं धोनी

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की शुक्रवार को घोषणा के बाद मिताली ने ट्वीट किया कि विश्व कप के एक साल तक स्थगित होने से उनकी टीम को तैयारियों के लिए काफी समय मिल जाएगा क्योंकि कोविड-19 महामारी ने उनकी योजनाओं को बुरी तरह प्रभावित किया है और उनका लक्ष्य हमेशा अपना पहला विश्व कप खिताब जीतने का होगा। Also Read - IPL 2020: कप्तान रोहित शर्मा ने कहा- मलिंगा की कमी महसूस करेगी मुंबई इंडियंस

झूलन भी मिताली की तरह 37 साल की हैं, वो भी 18 महीने बाद न्यूजीलैंड में खेलना चाहती हैं लेकिन उनका कहना है कि टूर्नामेंट तक उनकी फिटनेस और उनका प्रदर्शन ही ये तय करेगा। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास तैयारी के लिये काफी समय है, करीब 18 महीने, लेकिन दूसरी ओर अगर ये अगले साल ही होता तो ये अच्छा होता क्योंकि मैं लंबे समय से इस पर ध्यान लगाए थी।’’ Also Read - IPL 2020: बेन स्टोक्स ने किया इशारा; जल्द हो सकते हैं यूएई के लिए रवाना

झूलन ने पीटीआई से बातचीत में कहा, ‘‘अब आपको इसके आगे के बारे में सोचने की जरूरत होगी। हमने पिछले पांच-छह महीने से कोई क्रिकेट नहीं खेला है और मेरे जैसी खिलाड़ी (जो केवल वनडे खेलती हैं) ने नवंबर (2019) में ही टूर्नामेंट खेला था क्योंकि सभी टीमें विश्व कप (2020 में ऑस्ट्रेलिया में फरवरी-मार्च) से पहले टी20 खेली थीं।’’

क्या वो खुद को 2022 सीजन में खेलते हुए देखती हैं? तो उन्होंने कहा, ‘‘भारत के लिए खेलना सबसे बड़ा सम्मान है। हां, 2022 अभी लक्ष्य बना हुआ है, लेकिन आपको इस प्रक्रिया का हिस्सा होना चाहिए और लगातार मैच खेलते हुए प्रदर्शन करना चाहिए। इसके बाद ही आप विश्व कप के बारे में सोच सकते हो क्योंकि अभी काफी समय बचा है और ये करीब नहीं है।’’