कई दशकों से हॉकी में अपनी खोई प्रतिष्ठा तलाश रही भारतीय पुरुष हॉकी टीम के लिए यह खबर बेहद सुकून देने वाली है. ओलंपिक खेलों में मनप्रीत सिंह (Manpreet Singh) की कप्तानी में बेहतरीन हॉकी खेल रही टीम इंडिया को इसका फायदा वर्ल्ड रैकिंग में भी मिला है. अब वह एक पायदान चढ़कर पहली बार टॉप 3 में पहुंच गई है.Also Read - नीरज चोपड़ा, सुमित अंतिल की सफलता के बाद क्रिकेट जितना लोकप्रिय होगा भालाफेंक: अनुराग ठाकुर

इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन (FIH) ने साल 2003 से रैंकिंग शुरू की थी और तब से 18 साल में यह पहला मौका है, जब भारत टॉप 3 में अपनी जगह बना पाया है. अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) की गुरुवार को ताजा वर्ल्ड रैंकिंग जारी की. Also Read - उत्कृष्टता हासिल करने के लिए विराट कोहली को फॉलो करना चाहते हैं पीआर श्रीजेश

इसमें भारत तीसरे नंबर पर है. इससे पहले वह मार्च 2020 में चौथे नंबर पर पहुंचा था, जो उसकी इससे पहले सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग थी. भारत के 2286 अंक हैं और वह चौथे स्थान पर खिसकने वाले नीदरलैंड (2267 अंक) से 19 अंक आगे है. ऑस्ट्रेलिया (2628) पहले और बेल्जियम (2606) दूसरे स्थान पर है. Also Read - टोक्यो ओलम्पिक में पदक से चूके 24 खिलाड़ियों को गिफ्ट में मिली कार, टाटा मोटर्स ने किया सम्मानित

भारत ने ओलंपिक में न्यूजीलैंड को 3-2 से हराकर शानदार शुरुआत की थी. इसके बाद वह ऑस्ट्रेलिया से 1-7 से हार गया लेकिन इसके बाद उसने स्पेन को 3-0 और अर्जेंटीना को 3-1 से हराकर अच्छी वापसी करके क्वॉर्टर फाइनल में जगह बनाई. ताजा विश्व रैकिंग में इंग्लैंड 5वें स्थान पर है. उसके बाद जर्मनी, अर्जेंटीना, न्यूजीलैंड, स्पेन और साउथ अफ्रीका का नंबर आता है.

हालांकि महिला टीम के लिए वर्ल्ड रैकिंग में अच्छी खबर नहीं है. टोक्यो ओलंपिक में संघर्ष कर रही महिला टीम रैंकिंग में भी 12वें स्थान पर खिसक गई है. ओलंपिक के लीग स्टेज में उसे नीदरलैंड, ग्रेट ब्रिटेन और जर्मनी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है.

(इनपुट: एजेंसी)