World Test Championship 2021, India vs New Zealand: भारत के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के दौरान ऑस्‍ट्रेलियाई टीम को एक छोटी सी गलती के चलते वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बना पाने से व‍ंचित रहना पड़ा. अगर मेलबर्न टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का ओवर रेट स्‍लो नहीं होता तो आज वो चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच चुके होते.Also Read - IND vs AUS 2022: सितंबर में ऑस्ट्रेलिया करेगी भारत का दौरा, दोनों देश खेलेंगे सिर्फ यह एक सीरीज

वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच 18 जून को साउथम्‍पटन में होने वाला है. ऑस्‍ट्रेलिया ने नंबर-3 और न्‍यूजीलैंड ने चौथे नंबर पर रहते हुए टेस्‍ट चैंपियनशिप में अपने सफर का अंत किया. Also Read - Sachin Tendulkar Birthday: जब अपने जन्मदिन के मौके पर सचिन तेंदुलकर ने इंडिया को दिया था जीत का तोहफा

ऑस्ट्रेलिया को चार मैचों की श्रृंखला के दूसरे मैच में तय समय से दो ओवर कम करने के कारण चार डब्ल्यूटीसी अंक गंवाने पड़े थे. इसके बाद उन्‍होंने साउथ अफ्रीका जाकर टेस्‍ट सीरीज खेलने से भी इनकार कर दिया. अगर आस्ट्रेलिया पर धीमी ओवर गति के लिये जुर्माना नहीं लगा होता तो न्यूजीलैंड की जगह वह फाइनल के लिये क्वालीफाई कर जाते. Also Read - एंड्र्यू मैकडॉनल्ड बने ऑस्ट्रेलिया के पर्मानेंट कोच, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने लगाई मुहर

लैंगर ने एसईएन रेडियो नेटवर्क से कहा, ‘‘हमारे मैनेजर गेविन डोवे तब टीम के साथ नहीं थे. वह अपने परिवार के साथ क्रिसमस मनाने के लिये चले गये थे. हमें मैच के बाद अहसास हुआ कि हमारी ओवर गति धीमी हो गयी थी. अब यह हमारी तरफ से वास्तव में लापरवाही थी.’’

लैंगर ने कहा, ‘‘मुझे याद है कि बाद में हम टीम रूम में थे और मैंने पेनी (कप्तान टिम पेन) और अपने विश्लेषक डेने हिल्स से इस बारे में बात की. मैं इसको लेकर नाराज था और मुझे लग रहा था कि इससे हम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने का मौका गंवा सकते हैं.’’

‘‘मैंने बाद में खिलाड़ियों से कहा कि ये दो ओवर हमें विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिये महंगे पड़ सकते हैं. इसलिए हमें इस क्षेत्र में बेहतर करना होगा तथा सिडनी और ब्रिस्बेन में ऐसा नहीं होना चाहिए. ’’

जस्टिन लैंगर ने कहा, ‘‘यह बहुत निराशाजनक है, लेकिन इससे यह सबक मिलता है कि हम चीजों पर नियंत्रण कर सकते हैं. हमें चीजों पर नियंत्रण करना चाहिए.’’