भारतीय बॉक्सर मंजू रानी (48 किग्रा) ने सोमवार को अंतिम 16 के मुकाबले में आसान जीत के साथ विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया.

रोहित और मयंक कैरियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर, अश्विन की टॉप-10 में वापसी

छठी वरीय मंजू ने वेनेजुएला की रोजास टेयोनिस सेडेनो को 5-0 से हराया. विश्व चैंपियनशिप में पदार्पण कर रही मंजू इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में पदक जीतने से अब सिर्फ एक जीत दूर हैं.

क्वार्टर फाइनल में हालांकि मंजू की राह आसान नहीं होगी जहां उन्हें पिछली बार की कांस्य पदक विजेता और शीर्ष वरीय दक्षिण कोरिया की किम हयांग मी से 10 अक्टूबर को भिड़ना है.

रानी हालांकि सेडेनो के खिलाफ दमदार मुक्के लगाने के विफल रहीं लेकिन भारतीय मुक्केबाज ने विरोधी खिलाड़ी की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया. दोनों मुक्केबाजों ने रक्षात्मक रवैया अपनाया लेकिन मंजू के मुक्के अधिक सटीक थे.

सोमवार को प्रतिस्पर्धा पेश करने उतरी एक अन्य भारतीय मुक्केबाज मंजू बमबोरिया (64 किग्रा) को हालांकि चौथी वरीय इटली की एंजेलो करिनी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा.

Birthday Special: जब एक बाप ने कहा… जा बेटा जी ले अपनी जिंदगी… और इस तरह देश को मिला ये नायाब क्रिकेटर

मंजू बमबोरिया ने कड़ी चुनौती पेश की लेकिन इसके बावजूद उन्हें यूरोपीय चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी.

भारतीय खिलाड़ी को खंडित फैसले में 1-4 से हार का सामना करना पड़ा.

मंगलवार को छह बार की चैंपियन एमसी मेरीकोम (51 किग्रा) प्री क्वार्टर में अपने अभियान की शुरुआत थाईलैंड की जुतामस जितपोंग के खिलाफ करेंगी. तीसरी वरीय भारतीय को पहले दौर में बाई मिली है.

पूर्व रजत पदक विजेता स्वीटी बूरा 75 किग्रा वर्ग में दूसरी वरीय वेल्स की लारेन प्रिंस से भिड़ेंगी. लारेन यूरोपीय खेलों की स्वर्ण पदक विजेता और पिछली विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता हैं.