भारतीय पहलवान जितेन्द्र ने अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए शनिवार को यहां जारी विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है. जितेन्द्र ने 79 किलोग्राम भारवर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल में तुर्की के मुहम्मेत नूरी कोटनोगुलू को 7-1 से करारी शिकस्त दी. भारतीय पहलवान के लिए मुकाबले का पहला राउंड सामान्य रहा और उसने केवल एक अंक हासिल किया. हालांकि, दूसरे राउंड के अंतिम 90 सेकेंड में जितेन्द्र ने दमदार प्रदर्शन किया और मुकाबला जीत लिया. क्वार्टर फाइनल में जितेंद्र का सामना स्लोवाकिया के तैमूरज सल्काजानोव से होगा.

इससे पहले, जितेंद्र ने पहले दौर के अपने मैच में मोल्डोवा के घेओरघी पास्कलोव को 7-2 से शिकस्त दी थी. मैच की शुरुआत भारतीय खिलाड़ी के लिए बेहतरीन रही और उसने सबसे पहले दो अंक हासिल किए. पास्कलोव ने भी वापसी का प्रयास किया, लेकिन पहले राउंड की समाप्ती पर जितेन्द्र 5-2 से आगे रहे. दूसरे राउंड में भी जितेन्द्र का दबदबा देखने को मिला और उन्होंने जीत दर्ज की.

बजरंग पूनिया व रवि दहिया ने बढ़ाया देश का मान, विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में जीता कांस्य पदक

इसी बीच बजरंग पूनिया ने शुक्रवार को यहां पुरूषों के 65 किग्रा फ्रीस्टाइल में कांस्य पदक जीतकर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में अपना कुल तीसरा पदक हासिल किया जबकि पहली बार प्रतियोगिता में चुनौती पेश कर रहे रवि दहिया ने भी कांसे का तमगा जीता. बजरंग इस प्रतियोगिता में तीन पदक जीतने वाले वह भारत के पहले पहलवान बन गये हैं. बजरंग ने इससे पहले 2013 में कांस्य और 2018 में रजत पदक जीता था.

बजरंग ने शुक्रवार को कांस्य पदक के मुकाबले में मंगोलिया के तुल्गा तुमुर ओचिर को 8-7 से हराया. ओचिर अंडर-23 वर्ग में एशियाई चैम्पियन है. ओचिर ने मुकाबले की शुरुआत में ही बजरंग को मैट से बाहर कर दबाव में ला दिया. उन्होंने बजरंग की हाथों पर मजबूत पकड़ बनाई  जिससे यह भारतीय पहलवान जवाबी हमला नहीं कर पाया. इसके बाद ओचिर ने चार अंक हासिल कर 6-0 की बढ़त कायम कर ली. बजरंग ने दूसरे पीरियड में अपने अंदाज में जवाबी हमले के साथ वापसी की. उन्होंने पहले विरोधी खिलाड़ी की बढ़त को कम किया और फिर एक अंक की बढ़त हासिल कर करीबी मुकाबले को 8-7 से अपने नाम कर लिया.

सिर्फ कांस्य पदक से संतुष्ट नहीं हैं पहलवान बजरंग पुनिया, कहा- इसे जीत नहीं मान सकता

दहिया ने पुरूषों के 57 किग्रा भार वर्ग में अपने मजबूत प्रतिद्वंद्वी ईरान के एशियाई चैंपियन रेजा अत्री नागर्ची को 6-3 से हराया. अपने अभियान में कुछ चोटी के पहलवानों को हराने वाले दहिया सेमीफाइनल में रूस के विश्व चैंपियन पहलवान जौर उगएव से 4-6 से हार गए  थे. उन्होंने इससे पहले आर्मेनिया के 61 किग्रा में यूरोपीय चैंपियन आर्सन हारुतुनयान और फिर क्वार्टर फाइनल 2017 के विश्व चैंपियन और विश्व में नंबर तीन युकी तकाहाशी को हराया था.