इंग्‍लैंड में होने वाले वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के खिताबी मुकाबले के लिए भारतीय टीम के स्‍क्‍वाड का ऐलान हो चुका है. शानदार फॉर्म में चल रहे पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) को इस टीम में शामिल नहीं किया गया है. ऐसे में उन्‍हें बाहर रखने को लेकर चयन समिति की हर तरफ से आलोचना हो रही है. इसी बीच पृथ्‍वी को जगह नहीं दिए जाने को लेकर समिति की तरफ से सूत्रों के हवाले से एक बयान सामने आया है. Also Read - IND vs NZ, Reserve Day, Lunch Report: भारत ने सस्‍ते में गंवाए पांच विकेट, जडेजा-पंत पर बड़ी जिम्‍मेदारी

पृथ्‍वी शॉ को इंग्‍लैंड के खिलाफ होने वाली पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज से भी दूर रखा गया है। सूत्रों की माने तो चयन समिति को पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) का बढ़ता हुआ वजन रास नहीं आ रहा है. यही वजह है कि उन्‍हें इस अहम मैच से दूर रखा गया है. बताया गया कि पृथ्‍वी शॉ को विकेटकीपर बल्‍लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant) का उदाहरण दिया गया. पंत को भी पहले अतिरिक्‍त वजन होने के चलते टीम से बाहर किया गया था. उन्‍हें भी अपनी फिटनेस साबित करने के लिए कहा गया था. Also Read - WTC Final ड्रॉ होने की स्थिति में विजेता चुनने के लिए नया फॉर्मूला बनाए ICC: सुनील गावस्कर

अधिकारी ने कहा, “ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) में फिटनेस की कमी साफ दिखी थी. वो अभी 21 साल के हैं. एक युवा खिलाड़ी में जिस तरह का फिटनेस का स्‍तर होना चाहिए वो पृथ्‍वी के पास नहीं है. अगर रिषभ पंत कुछ ही महीनों में अपना वजन कम कर सकते हैं तो पृथ्‍वी को भी ऐसा करना होगा.” Also Read - 'WTC Final से पहले अभ्यास की कमी के वजह से भारतीय पेस अटैक को नुकसान हो रहा है'

बता दें कि पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) इस वक्‍त शानदार फॉर्म में हैं. वो इस आईपीएल सीजन में आठ मुकाबलों में तीन अर्धशतकों की मदद से 308 रन बना चुके हैं. वो सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्‍लेबाजों की सूची में चौथे स्‍थान पर हैं. इस सीजन अबतक उनका हौसत 38.50 का रहा है.

इससे पहले पृथ्‍वी शॉ (Prithvi Shaw) ने सैय्यद मुश्‍ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी के दौरान भी बल्‍ले से खूबर रन बटोरे थे. हालांकि ऑस्‍ट्रेलया दौरे पर वो विफल रहे थे.