ऑस्ट्रेलिया में आयोजित टी20 विश्व कप (ICC Women T20 World Cup 2020) टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदशर्न कर फाइनल में पहुंची टीम इंडिया को देखकर फैंस को लगा है कि अब भारत में महिला क्रिकेटर्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग जैसे टूर्नामेंट का आयोजन करने का सही समय आ गया है। हालांकि टीम इंडिया के कोच WV रमन की राय कुछ अलग है। Also Read - विराट-अनुष्का ने किया PM-CARES फंड को दान देने का ऐलान, जानिए कितनी है रकम

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में रमन ने कहा, “अगर हम पुरुष खिलाड़ियों जैसे टूर्नामेंट की बात कर रहे हैं, जिसका मतलब है कि आठ टीम होनी चाहिए। मुझे लगता है कि हमें इस अवधारणा को आकार देने के लिए समय चाहिए। हमें इसे धीमा और स्थिर रहना होगा। फिलहाल हम केवल अंडर-19, 23 और भारत ए टीम के दौरों को देख रहे हैं। अगले साल होने वाले अंडर-19 विश्व कप से और प्रतिभाएं आएंगी। इसलिए अगले 3-4 सालों में महिलाओं के लिए आईपीएल शुरू करने का सबसे सही समय होगा।” Also Read - मैं तो घर पर हूं लेकिन दिमाग वानखेड़े स्टेडियम में : सूर्यकुमार यादव

टी20 विश्व के दौरान कप्तान हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) और स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) जैसे सीनियर बल्लेबाज नहीं बल्कि युवा शेफाली वर्मा (Shafali Verma) के प्रदर्शन की ज्यादा तारीफ हुई। जब रमन से पूछा गया कि सीनियर खिलाड़ियों के खराब फॉर्म के चलते युवाओं के आगे आने पर उनका क्या विचार है, तो उन्होंने कहा, “टी20 ऐसा फॉर्मेट है जिसमें हमने कभी निरंतर प्रदर्शन नहीं किया था। इसलिए युवाओं का आगे आना और वो करना जो उन्होंने किया बेमिसाल था।” Also Read - ना विश्व कप, ना चैंपियंस ट्रॉफी....केवल 30 लाख कमाकर रांची में बसना चाहते थे महेंद्र सिंह धोनी

विराट कोहली ने कहा- प्लीज प्रधानमंत्री के बताए ‘जनता कर्फ्यू’ को मानें

शेफाली के बारे में रमन ने कहा, “वो अब भी छोटी है। लोग जो कहते हैं चाहे वो उसके भले के लिए ही क्यों ना हो, वो व्यर्थ है। फिलहाल के लिए हम उसे अपने आप में रहने देना चाहते हैं। इस समय सबसे जरूरी है कि उसे अपने परिवार से सही मार्गदर्शन मिले। मैदान पर, सबसे सही है कि उसे अकेला छोड़ दिया जाय। वो आगे बढ़ते हुए चीजें समझती जाएगी। वो अपने खेल पर काम करती है और वो बेहद समझदार है।”