पाकिस्तान और इंग्लैंड की क्रिकेट टीमों के बीच 3 मैचों की टेस्ट श्रृंखला की शुरुआत 5 अगस्त को मैनचेस्टर से होगी जबकि दूसरा और तीसरा टेस्ट साउथम्पटन में खेला जाएगा. पाकिस्तान के अनुभवी लेग स्पिनर यासिर शाह का मानना है कि इंग्लैंड में गुगली उनका ‘सबसे महत्वपूर्ण हथियार होगी.’ यासिर ने साथ ही कहा कि अगले महीने शुरू होने वाली टेस्ट श्रृंखला में उनकी नजरें मेजबान टीम के खिलाफ बल्ले से शतक जड़ने पर टिकी हैं. Also Read - England vs Pakistan 2nd Test Playing XI Prediction: बेन स्टोक्स की जगह इस खिलाड़ी को मौका दे सकता है इंग्लैंड, जानिए दोनों टीमों का संभावित XI

‘मैं काफी अच्छी तरह गुगली कर रहा हूं’ Also Read - England vs Pakistan 2nd Test in Southampton Live Streaming: बराबरी को बेताब पाकिस्तान, जानें कब और कहां देखें दूसरा टेस्ट

34 साल के यासिर अपनी गुगली पर मुश्ताक अहमद के साथ मिलकर काम कर रहे हैं जिन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने इंग्लैंड दौरे से पहले स्पिन गेंदबाजी कोच नियुक्त किया है. पाकिस्तान की ओर से अब तक 39 टेस्ट में 213 विकेट चटकाने वाले यासिर ने कहा, ‘मैं काफी अच्छी तरह गुगली कर रहा हूं. दो दिवसीय मैच में मैंने जितनी भी गुगली फेंकी वे सही लाइन पर थी और अच्छी तरह स्पिन हुईं. मुझे लगता है कि यह मेरा सबसे महत्वपूर्ण हथियार होगा.’ Also Read - पहला टेस्ट गंवाने के बावजूद इंजमाम ने पाकिस्तान को इंग्लैंड से बेहतर टीम बताया, जताई सीरीज जीत की उम्मीद

टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेजी से 200 विकेट चटकाने वाले गेंदबाज यासिर ने कहा कि उन्हें श्रृंखला के दौरान सूखे विकेटों की उम्मीद है जिससे स्पिनरों को मदद मिलेगी.

इंग्लैंड में भी शतक जड़ना चाहते हैं

यासिर ने कहा, ‘काउंटी टीमें आम तौर पर जुलाई से सितंबर के बीच स्पिनरों के साथ करार करती हैं क्योंकि इन तीन महीनों में स्पिनरों को सूखे विकेटों पर मदद मिलती है. उम्मीद करता हूं कि विकेटों से स्पिनरों को मदद मिलेगी.’ यासिर ने पाकिस्तान के लिए सिर्फ 707 रन बनाए हैं लेकिन इसमें पिछले साल एडीलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 113 रन की पारी भी शामिल है और वह इंग्लैंड में भी शतक जड़ना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं नेट्स पर अपनी बल्लेबाजी पर काम कर रहा हूं. जब टीम को आपकी जरूरत होती है तो आपको आगे बढ़कर जिम्मेदारी लेनी होती है. इसलिए मेरा एक लक्ष्य है, इंग्लैंड में शतक जड़ना. अगर मैं एडीलेड में शतक जड़ सकता हूं तो मैं यहां भी ऐसा कर सकता हूं.’

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच बुधवार से साउथम्पटन में शुरू हुई तीन टेस्ट की श्रृंखला के साथ कोरोना वायरस महामारी के कारण निलंबन के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट दोबारा बहाल हुआ.