ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर भारत को ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जितवाने में मदद करने वाले जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) उन कुछ गेंदबाजों में से हैं जो 10 में 9 बार सटीक यॉर्कर गेंद डालने के लिए जाने जाते हैं। आईपीएल में मशहूर होने वाले बुमराह ने श्रीलंका के दिग्गज लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) के मार्गदर्शन में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के लिए अपना करियर शुरू किया था और वहीं पर उन्हें मलिंगा से यॉर्कर किंग की उपाधि मिली। लेकिन क्या आप इस बात पर यकीन करेंगे कि किसी कप्तान ने बुमराह को यॉर्कर डालने के लिए मना किया हो। Also Read - आज मुंबई को हराते ही धोनी के नाम होगा IPL का सबसे बड़ा रिकॉर्ड, बनेंगे पहले कप्‍तान

जी हां, ऐसा किस्सा बुमराह के डेब्यू मैच के दौरान हुआ था, जब उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी वनडे में पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में बुमराह ने इस मैच को याद किया। Also Read - IPL 2020: स्टीव स्मिथ का कनकशन बढ़ा सकता है राजस्थान की मुसीबत; CA के साथ मिलकर रखेंगे नजर

उन्होंने कहा, “मैंने उनके नेतृत्व में अपना डेब्यू किया था और उन्होंने मुझे काफी आत्मविश्वास दिया था। काफी लोगों को पता नहीं है कि माही भाई ने मुझे गेंदबाजी करते नहीं देखा था। मेरे डेब्यू मैच में मैं डेथ ओवर में गेंदबाजी करने वाला था और मैंने उनसे पूछा कि ‘क्या मैं यॉर्कर डालूं?’ और उन्होंने कहा ‘नहीं, यॉर्कर मत कराना’।” Also Read - IPL 2020, CSK vs MI: मैच का रुख पलट सकते हैं मुंबई-चेन्नई के ये पांच खिलाड़ी

बुमराह ने आगे कहा, “उन्हें लगा चूंकि ये बेहद मुश्किल गेंद है, मैं इसे नहीं करा पाउंगा। मैंने उनसे कहा ‘डेथ ओवर में मुझे कुछ और करना नहीं आता’ इसलिए मैंने वहीं किया जो मुझे आता है और फिर वो मेरे पास आए और कहा ‘मुझे बिल्कुल नहीं पता था। तुम्हें पहले आना चाहिए था, हम पूरी सीरीज जीत जाते’। एक तरफ मैं अपने डेब्यू मैच में नर्वस हो रहा था और वहां कप्तान मुझसे कह रहे थे ‘तुम हमें पूरी सीरीज जिता देते’। उन्होंने मुझे पूरी आजादी दी थी।”

भारत को तीन आईसीसी टूर्नामेंट जिताने वाले धोनी ने 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया। इस पर बुमराह ने कहा, “हां, ये उनका फैसला था और हम सभी उसका सम्मान करते हैं।”