भारतीय महिला क्रिकेट टीम आईसीसी टी20 विश्व कप के फाइनल में रविवार को मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगी. 16 साल की युवा ओपनर शेफाली वर्मा ने भारत की ओर से अब तक बेहतरीन प्रदर्शन किया है. शेफाली ने अपनी आक्रामक बल्लेबाजी से सबकों प्रभावित किया है. ऐसे में फाइनल में भी उनसे भारत को तेज शुरुआत दिलाने की उम्मीद होगी. इस बीच इंग्लैंड की सलामी बल्लेबाज डैनी व्हाइट ने कहा कि शेफाली को रोकने के लिए 4 बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को दिमागी रूप से खेलना होगा. Also Read - वकार यूनुस ने टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत पर उठाए सवाल

ICC Women’s T20 World Cup 2020, Final: जानिए कब और कहां देखें भारत-ऑस्ट्रेलिया फाइनल मुकाबला Also Read - सचिन तेंदुलकर की इस पारी से ब्रायन लारा ने जीवन में सीख लेने की दे डाली सलाह

शेफाली ने इस विश्व कप में 161 की शानदार स्ट्राइक रेट से टूर्नामेंट में 161 रन बनाने के साथ भारत को शानदार शुरुआत दिलाई है. बकौल व्हाइट, ‘सबको पता है उसकी कमजोरी क्या है और शेफाली को भी यह पता है. ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले उसके खिलाफ उस तरह की गेंदबाजी की है. आपको उसके खिलाफ दिमागी खेल खेलना होगा जिससे उसकी कमजोरी उजागर हो जाए.’ Also Read - COVID-19: कोहली एंड कंपनी का ऑस्ट्रेलिया दौरा अधर में, ये है वजह

व्हाइट ने 2019 में महिला टी20 चैलेंज में इस युवा खिलाड़ी के साथ ड्रेसिंग रूम साझा किया था. उन्होंने कहा, ‘जब वह विफल होती है तो वह जरूरत से ज्यादा भावुक हो जाती है. मैंने शेफाली को समझाया कि वह ज्यादा तनाव ना ले यह सिर्फ क्रिकेट है.’

ICC Women’s T20 World Cup 2020, Final: भारतीय प्लेइंग XI में हो सकता है 1 बदलाव

व्हाइट ने कहा, ‘जब आप टी20 में सलामी बल्लेबाज की भुमिका निभाते हैं जो स्थितियां आपके लिए काफी मुश्किल हो जाती है. आपको मैदान में उतरते ही बड़े शॉट लगाने होते है और ऐसे में विफल होने की संभावना अधिक होती है.’ शेफाली ने अब तक इस टूर्नामेंट में कुल 9 छक्के लगाए हैं. मौजूदा टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में वह चौथे नंबर पर हैं.