नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने डोपिंग उल्लंघन के लिए भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी युसुफ पठान को निलंबित कर दिया है. बीसीसीआई ने मंगलवार को जारी अपने बयान में कहा है कि पठान को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन के लिए निलंबित किया गया है. यह पदार्थ आमतौर पर कफ सिरप (खांसी की दवा) में पाया जाता है. Also Read - IPL 2021: 14वें सीजन के लिए चुने गए BCCI के वेन्यू से नाखुश हैं पंजाब के सहमालिक नेस वाडिया; पत्र लिखकर पूछा ये सवाल

टीम इंडिया के ऑलराउंडर युसूफ पठान डोप टेस्ट में पकड़े गये हैं जिसके कारण उनपर पांच महीने का पूर्वप्रभावी निलंबन लगाया गया लेकिन बड़ी बात है कि युसूफ पर लगा बैन पांच दिन के बाद ही यानी 14 जनवरी को समाप्त हो जायेगा. इसतरह बीसीसीआई ने अपने ऑलराउंडर खिलाड़ी के कैरियर को तबाह होने से बचा लिया है. Also Read - ...तो अब इस टीम के लिए बल्ला थामेंगे Yusuf Pathan और Vinay Kumar, Jayasurya भी तैयार

इसके बाद यूसुफ ने एक स्टेटमेंट जारी कर बीसीसीआई का धन्यवाद करते हुए लिखा- मुझे मेरे मामले को उचित तरीके से पेश करने की अनुमति देने के लिए शुक्रिया. Also Read - IPL 2021: अहमदाबाद का नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर सकता है आईपीएल नॉकआउट और फाइनल मैचों की मेजबानी

इसके बाद यूसुफ पठान ने एक विज्ञपत्ति जारी कर कहा है, मैं बीसीसीआई का धन्यवाद करता हूं कि मुझे मेरे मामले को उचित तरीके से पेश करने की अनुमति दी.

पठान ने बीसीसाई के डोपिंग रोधी टेस्ट कार्यक्रम के दौरान 16 मार्च, 2017 को नई दिल्ली में घरेलू टी-20 मैच के तहत यूरिन सेंपल दिया था. उनके इस सेंपल की जांच की गई और इसमें प्रतिबंधित पदार्थ ‘टब्र्यूटेलिन’ की मात्रा पाई गई.

‘टब्र्यूटेलिन’ एक ऐसा पदार्थ है, जो विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) की प्रतिबंधित दवाओं की सूची में शामिल है.इस मामले में पठान पर 27 अक्टूबर, 2017 को बीसीसीआई विरोधी डोपिंग नियम (एडीआर) अनुच्छेद 2.1 के तहत एक डोपिंग विरोधी नियम उल्लंघन (एडीआरवी) का आरोप लगाया गया था और अस्थायी रूप से निलंबित किया गया था.

पठान ने डोपिंग रोधी नियम उल्लंघन की बात स्वीकार की और कहा कि उन्हें जो दवाई लिखी गई थी, उसके अलावा उन्हें कोई और दवाई दी गई, जिसमें ‘टब्र्यूटेलिन’ की मात्रा शामिल थी.पठान ने हालांकि कहा कि उन्होंने जानबूझकर इस दवा का सेवन नहीं किया है और इसके सेवन का मकसद सिर्फ गले में जारी संक्रमण से छुटकारा पाना था, न कि अपने प्रदर्शन को सुधारना था।

बीसीसीआई ने पठान के स्पष्टीकरण को माना और इस बात को समझा कि अपर रेस्पाइरेटरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन (यूआरटीआई) के इलाज के लिए उन्हें गलती से ‘टब्र्यूटेलिन’ दिया गया.

इस बात को मानते हुए बीसीसीआई ने पठान पर पांच माह का निलंबन लगाया है, जो 15 अगस्त, 2017 से लागू हुआ है और यह निलंबन 14 जनवरी, 2018 को समाप्त हो जाएगा.इस बीच घरेलू सत्र में खेले गए उनके मैचों के परिणामों को भी रद्द किया जा सकता है.