कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते भारत में मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. भारत में अबतक 775 लोग इस वायरस की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं, दुनिया भर में मरने वालों का आंकड़ा 1.80 लाख तक पहुंच चुका है. निकट भविष्‍य में वायरस पर काबू पाने के आसार कम ही नजर आ रहे हैं. मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) का कहना है कि जबतक इस वायरस से पूरी तरह से निजात नहीं मिल जाता क्रिकेट दोबारा शुरू नहीं होना चाहिए. Also Read - Covid-19: SC ने जेलों में भीड़ कम करने के लिए कैदियों को रिहा करने का आदेश दिया

बीबीसी के शो ‘द दूसरा’ पॉडकास्ट से बातचीत के दौरान युवराज सिंह ने कहा ,‘‘मेरी निजी राय है कि पहले अपने देश और दुनिया को कोरोनावायरस से बचाना है. इसे पूरी तरह से खत्म करना होगा क्योंकि अगर यह बढ़ता रहा तो खिलाड़ी मैदान पर जाने से, ड्रेसिंग रूम या चेंजिंग रूम में जाने से भी डरेंगे.’’ Also Read - कोविड फैसिलिटी में भर्ती होने के लिए पॉजिटिव रिपोर्ट अनिवार्य नहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने राष्ट्रीय नीति में किया बड़ा बदलाव

युवराज सिंह ने कहा कि खिलाड़ियों पर वैसे ही मैदान पर काफी दबाव रहता है और वायरस के बारे में सोचते रहने से खेल पर से उनका ध्यान हटेगा. ‘‘जब आप दस्ताने पहनकर उतरेंगे, पसीना बह रहा है और आप बल्लेबाजी कर रहे हैं. आपका केला खाने का मन है लेकिन किसी और के हाथ में केला है तो आप सोचेंगे कि नहीं , मुझे नहीं खाना चाहिये.’’ Also Read - Corona Crisis: PM Modi ने कोविड-19 की स्थिति पर महाराष्ट्र और तमिलनाडु के CM से की बात

युवराज सिंह ने ,‘ आप खेलते समय इस तरह के सवालों से बचना चाहेंगे. आपका ध्यान खेल पर होना चाहिये. यह मेरी राय है. इस पर लोग अपनी राय रख सकते हैं.’’