नई दिल्ली: वर्ल्ड क्रिकेट के टॉप खिलाड़ियों में शुमार भारत के दिग्गज खिलाड़ी युवराज सिंह का इंटरनेशनल रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है. एक समय था जब युवराज मैदान पर उतरते थे तब लाखों दर्शक उत्साह से भर जाते थे. दर्शकों के उत्साह की सबसे बड़ी वजह थी युवराज के दमदार शॉट. भारत की ओर से खेलते हुए युवराज ने कई अहम मुकाबलों में अच्छा प्रदर्शन कर टीम को जीत दिलायी. लेकिन फिर वक्त ने करवट बदली और युवी कैंसर से पीड़ित होने की वजह से मैदान से दूर हो गए. Also Read - अगस्त-सितंबर में टीम इंडिया का कैंप लगाने के बारे में सोच रही है बीसीसीआई

Also Read - फ्लॉप XI में मनोज तिवारी का नाम देख भड़की पत्नी सुष्मिता

युवराज कैंसर की वजह से लम्बे समय तक मैदान से बाहर रहे. लेकिन जब वो इलाज करा के लौटे तब उनके प्रशंसकों को एक बार फिर से उम्मीद जगी. युवी वापसी के बाद अच्छा प्रदर्शन किया. लेकिन उनके बल्ले की चमक धीरे-धीरे फीकी पड़ने लगी. इसका प्रभाव साल 2017 से साफ दिखने लगा. जब युवी इंटरनेशनल मैचों में मौका मिलने के बावजूद कुछ खास नहीं कर पाए. इसके बाद आईपीएल 2018 की बार आयी. युवी को किंग्स इलेवन पंजाब ने 2 करोड़ में खरीदा. यह उनका बेस प्राइस था. लेकिन अहम बात यह रही की युवी आईपीएल के इस सीजन में बुरी तरह फ्लॉप हुए. Also Read - ट्विटर पर #युवराज_सिंह_माफी_मांगो कर रहा ट्रेंड, जानिए वजह

VIDEO: खेल मंत्री ने विराट कोहली को दिया ‘पुश अप चैलेंज’, फिट हो तो करके दिखाओ

आईपीएल 2018 मे किंग्स इलेवन पंजाब ने अपना पहला मुकाबला दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेला. यह मैच पंजाब ने 6 विकेट से जीता. लेकिन इसमें युवराज का कोई योगदान नहीं रहा. युवी ने 22 गेंदों का सामना करते हुए महज 12 रन बनाए और आउट हो गए. वो दूसरे मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 4 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए. इस तरह पूरा सीजन गुजर गया, लेकिन युवी का बल्ला नहीं बोला. उन्होंने इस सीजन में कुल 8 मैच खेले, जिसमें महज 65 रन बनाए. इस दौरान युवराज का सर्वाधिक स्कोर 20 रन रहा. इस तरह पंजाब को 2 करोड़ रुपये में महज 65 रन मिले.

सचिन तेंदुलकर ने चयनकर्ताओं को लताड़ा, कहा इनकी वजह से भारत खो रहा है यंग टैलेंट

रविचन्द्रन अश्विन की कप्तानी और वीरेन्द्र सहवाग की देखरेख में किंग्स इलेवन पंजाब ने इस सीजन के कई मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया. लेकिन वह प्लेऑफ तक का सफर तय नहीं कर पायी. पंजाब ने आखिरी लीग मैच चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ खेला, जिसमें उसे 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. अश्विन ने इस मैच की प्लेइंग इलेवन में युवराज सिंह को जगह नहीं दी थी. युवी के इस फ्लो शॉ के बाद उनके करियर पर सवालिया निशान उठ सकता है. युवी ने बीते महीने कहा था कि वो वर्ल्ड कप 2019 के बाद संन्यास के बारे में सोचेंगे. लेकिन उनका खराब प्रदर्शन बार-बार दर्शकों को निराश कर रहा है. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि युवी कब और क्या निर्णय लेंगे.