नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी मुम्बई के निदेशक (क्रिकेट संचालन) जहीर खान का मानना है कि लीग के 12वें सीजन में बाएं हाथ के सीनियर बल्लेबाज युवराज सिंह को तय रणनीति के तहत टीम में शामिल किया गया है. मुम्बई ने युवराज को इस बार आईपीएल की नीलामी के पहले राउंड में किसी भी टीम ने नहीं खरीदा था. लेकिन नीलामी के अंत तक युवराज को मुम्बई ने एक करोड़ रुपये में अपने टीम में शामिल किया.

जहीर ने मंगलवार को मुम्बई के अभ्यास सत्र के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “उनके (युवराज) पास काफी अनुभव है और वह हमारे मध्यक्रम में एक अहम बल्लेबाज साबित हो सकते हैं. युवराज एक मैच विनर हैं. हमें ऐसे बल्लेबाज की जरूरत थी, जो मध्यक्रम में काफी अनुभवी हों. मुझे लगता है कि युवराज उनमें से एक हैं, इसलिए हमने उन्हें टीम में शामिल किया.”

उन्होंने कहा, “युवी वर्षों से अपनी टीम को मैच जिताते आ रहे हैं. युवी से अच्छा यह काम कोई और नहीं कर सकता. हमने उन्हें नेट्स में देखा है, वो अच्छे लग रहे हैं और इस सीजन में उनकी नजर अच्छा प्रदर्शन करने के ऊपर हैं. युवराज के आने से टीम को मजबूती मिली है.”

दुनिया के 100 फेमस खिलाड़ियों की लिस्ट में विराट नंबर 1 क्रिकेटर, धोनी चढ़े 7 पायदान ऊपर

जहीर ने युवराज को दूसरी बार नीलामी में खरीदे जाने को लेकर कहा, “कई खिलाड़ी पहले राउंड में अनसोल्ड रहे थे मैं भी उनमें से हूं. नीलामी के दौरान कई सारी फ्रेंचाइजी अपनी रणनीतियों के अनुसार काम करते थे. आपको इस बात का भी ध्यान रखना होता है कि आप नीलामी में क्या करना चाहते थे.”

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जहीर के साथ मौजूद टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने आगामी विश्व कप को लेकर वर्कलोड पर हो रही चर्चाओं पर भी बात की. रोहित ने कहा कि वर्कलोड पर खिलाड़ियों को ही फैसला लेना है क्योंकि वे अपनी क्षमताओं को सबसे बेहतर पहचानते हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें आराम की जरूरत होगी आराम भी करेंगे.

VIDEO: सुरेश रैना ने गेंदबाजों को दी चेतावनी, ‘6 छक्के’ जड़ बनाया अर्धशतक

रोहित ने कहा, “पिछले तीन-चार वर्षों में हमने बहुत क्रिकेट खेले हैं. जहां तक वर्कलोड की बात है तो यह खिलाड़ियों का व्यक्तिगत मामला है. मुझे लगता है कि आपको अपने शरीर का भी ध्यान रखना होता है. अगर मेरा शरीर आराम मांगती है तो मैं आराम करूंगा और अगर मैं खेलना जारी रखना चाहता हूं तो मैं इसे जारी रखूंगा.”

उन्होंने ने कहा, “हां, विश्व कप को ध्यान में रखते हुए वर्कलोड महत्वपूर्ण है. लेकिन यह भी दुनिया का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है. तो यह सब ध्यान में रखते हुए मुझे लगता है कि हर कोई खिलाड़ी इस पर खुद से ही अच्छे से फैसला ले सकता है.”