भारत और पाकिस्‍तान (India vs Pakistan) के बीच साल 2013 में आखिरी बार सीमित ओवरों की द्विपक्षीय सीरीज खेली गई थी. वहीं, टेस्‍ट क्रिकेट की बात की जाए तो 2008 के बाद से यह दोनों टीमें कभी आमने सामने नहीं आई हैं. पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) का मानना है कि दोनों देशों के बीच अधिक से अधिक क्रिकेट होना चाहिए. यह क्रिकेट के लिए अच्‍छा है. Also Read - IPL 2021, CSK vs RCB: एक ही ओवर में लुटे 37 रन, क्रिकेट मैदान पर Ravindra Jadeja का तूफान

युवराज सिंह ने स्पोर्ट्स360 से कहा, ‘‘ पाकिस्तान के खिलाफ मैंने 2004, 2006 और 2008 में द्विपक्षीय सीरीज खेली थी. इन दिनों दोनों देशों के बीच ज्यादा क्रिकेट नहीं होता, लेकिन ये चीजें हमारे हाथ में नहीं है.’’ Also Read - IPL 2021: Yuvraj Singh बोले- सनराइजर्स के खिलाफ पोलार्ड नहीं Hardik Pandya मैन ऑफ द मैच

पढ़ें:- उम्मीद है कि पहले टेस्ट के लिए सभी खिलाड़ी फिट रहेंगे: केन विलियमसन Also Read - Ab de Villiers को नंबर-5 पर बल्‍लेबाजी करते देख नाराज हो गए युवराज सिंह, Virat Kohli ने मैच के बाद दी सफाई

‘‘हम खेल के प्रति लगाव के कारण क्रिकेट खेलते हैं. हम खुद यह तय नहीं कर सकते कि किस देश के खिलाफ खेलना है. मैं हालांकि यह कह सकता हूं कि भारत और पाकिस्तान एक दूसरे से अधिक खेलेंगे तो यह क्रिकेट के लिए अच्छा होगा.’’

युवराज और शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं लेकिन दोनों फ्रेंचाइजी आधारित टी20 लीग में खेलते हैं.

पढ़ें:- 31 साल बाद वनडे में क्‍लीन स्‍वीप हुआ भारत, जानें कब-कब टीम इंडिया के साथ हुआ ऐसा

इस विषय पर शाहिद अफरीदी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच सीरीज हुई तो यह एशेज से बड़ी सीरीज होगी. हमें हालांकि ऐसा मौका नहीं मिलता है. हम लोगों के खेल के प्रति प्यार के बीच में राजनीति को लेते आते हैं.’’