गुरुवार, 2 अप्रैल को भारतीय क्रिकेट फैंस ने लॉकडाउन में 2011 विश्व कप जीत की नौवीं सालगिरह मनाई। फैंस के साथ साथ पूर्व क्रिकेटरों ने भी सोशल मीडिया के जरिए भारतीय क्रिकेट के इतिहास से जुड़े इस खास दिन को याद किया। इन्हीं में से एक हैं पूर्व भारतीय खिलाड़ी और मौजूदा टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) जो कि संयोग से भारत-श्रीलंका फाइनल मैच के दौरान कमेंट्री कर रहे थे।Also Read - IND vs NZ- आउट नहीं थे Virat Kohli, DRS के बावजूद अंपायर के गलत निर्णय पर भड़के एक्सपर्ट्स

शास्त्री ने ट्वीट किया, “खिलाड़ियों को ढेर सारी बधाई, कुछ चीजों को आप जिंदगी भर याद रखते हैं, जैसे कि हमारा ग्रुप 1983 को।” हालांकि शास्त्री अपने इस ट्वीट में एक बड़ी गलती कर बैठे। Also Read - शनिवार को भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर बड़ा फैसला लेगी BCCI; 9 दिसंबर को रवाना हो सकती है टीम

शास्त्री ने विश्व कप जीत के इस ट्वीट के साथ पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और मौजूदा कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को टैग किया लेकिन मैन ऑफ द मैच कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) या मैन ऑफ द टूर्नामेंट युवराज सिंह (Yuvraj Singh) का नाम नहीं लिखा। जिसके लिए पूर्व क्रिकेटर युवराज ने शास्त्री की टांग खींची। Also Read - IND vs NZ: DRS पर भी अंपयार के गलत निर्णय का शिकार हुए Virat Kohli, देखें Video

युवी ने लिखा, “शुक्रिया सीनियर, आप मुझे और माही को भी टैग कर सकते थे, हम भी इसका हिस्सा थे।”

युवराज के इस जवाब पर फैंस ने भी शास्त्री को लेकर कई मजाकिया कमेंट किए। कुछ ने लिखा कि शास्त्री युवी और माही को कैसे भूल सकते हैं। वहीं कई फैंस ने युवराज के मजाकिया अंदाज की तारीफ की।

विश्व कप 2011 को लेकर किया गया ये पहला ट्वीट नहीं है जिस पर फैंस भड़के हों। इससे पहले पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने एक मशहूर स्पोर्ट्स वेबसाइट के उस ट्वीट पर नाराजगी जताई, जिसमें उन्होंने धोनी के विश्व कप फाइनल मैच में लगाए विनिंग शॉट की फोटो लगाकर इस जीत को याद किया था।

गंभीर का कहना था कि विश्व कप में मिली जीत पूरी टीम और सपोर्ट स्टाफ के मेहनत का नतीजा थी, इसलिए केवल एक शॉट को श्रेय देना लगता है। भले ही पूर्व खिलाड़ी के इरादे सही हो लेकिन फैंस को उनके ट्वीट का आक्रामक अंदाज पसंद नहीं आया।