नई दिल्ली : भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने युवराज सिंह के उतार-चढ़ाव भरे करियर की सराहना करते हुए कहा कि यह कलात्मक बल्लेबाज 17 साल तक शीर्ष स्तरीय क्रिकेट के बाद बेहतर विदाई का हकदार था.

भारत की वनडे टीम के उपकप्तान ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ आपको किसी चीज की अहमियत का तब पता चलाता है जब वह आपके पास नहीं होती. भाई, आपको बहुत सारा प्यार. आप एक बेहतर विदाई के हकदार थे.’’

भारत की तरफ से वेस्टइंडीज के खिलाफ जून 2017 में अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले युवराज ने सोमवार को मुंबई में क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की. इस दौरान उन्होंने खुलासा किया कि बीसीसीआई ने ‘यो यो’ टेस्ट में विफल होने पर उन्हें विदाई मैच का प्रस्ताव दिया था. युवराज हालांकि ‘यो यो’ टेस्ट में सफल रहे और उन्हें विदाई मैच खेलने का मौका कभी नहीं मिला.

अपने 17 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान वह 2007 में टी20 विश्व कप और 2011 में एक दिवसीय विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे. युवराज ने भारत की तरफ से 40 टेस्ट, 304 वनडे और 58 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. उन्होंने टेस्ट मैचों में 1900 और वनडे में 8701 रन बनाये. टी20 अंतरराष्ट्रीय में उनके नाम पर 1177 रन दर्ज हैं.

विश्वकप 2019: कोहली के क्रीज पर रहने से आक्रामक बल्लेबाजी करते हैं पांड्या

युवराज भी वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और गौतम गंभीर जैसे उन समकालीन भारतीय दिग्गजों में शामिल हैं जिन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के जरिये विदाई नहीं मिली.

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के नेतृत्व में युवराज का करियर परवान चढ़ा और गांगुली ने ने भी इस खिलाड़ी की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘प्रिय युवराज, हर अच्छी चीज का अंत होता है .. मैं आपको बताता हूं कि यह एक अद्भुत बात थी..आप मेरे भाई की तरह हैं .. और अब करियर खत्म होने के बाद और अधिक प्रिय हो गये हैं .. पूरे देश को आप पर गर्व होगा. बहुत सारा प्यार .. शानदार करियर…. .’’

बता दें कि युवराज ने टीम इंडिया के लिए वर्ल्ड कप 2011 में शानदार प्रदर्शन किया था. वो मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहे  थे.