नई दिल्ली : टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ी युवराज सिंह ने रविवार को कहा कि वह अगले विश्व कप के लिए भारतीय टीम में जगह बनाने की कोशिश करेंगे. 2011 विश्व कप के हीरो रहे पंजाब के बल्लेबाज युवराज रणजी ट्रॉफी में ग्रुप-बी में बंगाल के खिलाफ मैच खेलने के लिए रविवार को कोलकाता पहुंचे. युवराज ने कहा, “क्रिकेट ने मुझे सबकुछ दिया है. मैं चाहता हूं कि जब मैं इस खेल से संन्यास लूं तो अपने बेहतरीन फॉर्म में रहूं. मैं किसी पछतावे के साथ नहीं जाना चाहता.”

37 साल के युवराज को मुंबई इंडियंस ने इस बार आईपीएल नीलामी में उनके बेस प्राइस एक करोड़ में खरीदा है. वह इस टी-20 टूर्नामेंट के जरिये वापसी करना चाह रहे हैं. उन्होंने कहा, “मैं अपनी ओर से सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश कर रहा हूं. यह हमारा आखिरी (ग्रुप स्टेज) रणजी ट्रॉफी मैच है और देखते हैं क्वालीफाई कर पाते है या नहीं. इसके बाद राष्ट्रीय टी-20 टूर्नामेंट और आईपीएल है. मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर खुद के साथ अच्छा होने की उम्मीद करूंगा.”

एएफसी एशियन कप: भारत ने थाईलैंड को 4-1 से हराया, छेत्री ने किए दो गोल

युवराज ने इस दौरान ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने के करीब पहुंची विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम की भी तारीफ की. हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, “हमारी बल्लेबाजी में अनुभव की कमी थी, लेकिन खिलाड़ियों की कोशिश शानदार रही. खासकर, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया. निचले क्रम में ऋषभ पंत को बड़ा स्कोर बनाते देखना अच्छा लगा. भारतीय क्रिकेट के भविष्य के लिए यह अच्छे संकेत हैं.”

INDvsAUS: लंच ब्रेक के बाद भी शुरू नहीं हो सका खेल, बारिश बनी बाधा

युवराज ने 2003-04 और 2007-08 दौरे को याद करते हुए कहा, “जब भी हमने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया वह काफी मुश्किल रहा. हमारे पास सीरीज जीतने के मौके थे लेकिन वह ड्रॉ रहा. अगली बार ऑस्ट्रेलिया 2-1 से जीतने में सफल रहा.”