नई दिल्ली: टीम इंडिया के युवा स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल ने वनडे और टी-20 फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन किया है. लेकिन वो अभी तक भारतीय टीम के लिए टेस्ट मैच नहीं खेल पाए हैं. इस पर टीम इंडिया के पू्र्व दिग्गज खिलाड़ी राहुल द्रविड़ का कहना है कि चहल को टेस्ट मैच खेलने का मौका मिलना चाहिए. इंडिया-ए और अंडर-19 क्रिकेट टीम के कोच द्रविड़ ने युजवेंद्र को लंबे प्रारूप की क्रिकेट अधिक खेलने की सलाह दी है.

आईसीसी की वेबसाइट के मुताबिक, चहल ने आयरलैंड और इंग्लैंड दौरे पर सीमित ओवरों की सीरीज में आठ मैचों में नौ विकेट हासिल किए थे. उन्हें अब तक टेस्ट क्रिकेट में खेलने का मौका नहीं मिला है. ऐसे में द्रविड़ ने कहा है कि उन्हें लाल गेंद से अधिक मैच खेलने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

जीवा के स्टेडियम में रहने से मिलती है धोनी को एनर्जी, माही ने उजागर किए कई सीक्रेट्स

द्रविड़ ने भारत-ए की दक्षिण अफ्रीका-ए पर जीत के बाद  कहा, “निश्चित रूप से, चहल सफेद गेंद से (वनडे, टी-20) में काफी सफल रहे हैं. मैं उन्हें पिछले दो वर्षो से खेलता देख रहा हूं जब वह पहली बार आस्ट्रेलिया दौरे पर गए थे. लेकिन, उन्होंने केवल सफेद गेंद से क्रिकेट खेली है. लंबे प्रारूप की क्रिकेट में उनकी संभावनाओं को आंका नहीं गया है. उन्हें लंबे प्रारूप की क्रिकेट पर ध्यान देना चाहिए.”

द्रविड़ ने मैच के बाद सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की भी जमकर तारीफ की. 18 साल के युवा बल्लेबाज शॉ ने पिछले 10 पारियों में चार शतक लगाए हैं. मयंक ने भी पिछले 10 पारियों में चार शतक बनाए हैं.

INDvsENG: लॉर्ड्स में टीम इंडिया के सामने जीत की चुनौती, प्लेइंग इलेवन में होगा बदलाव

द्रविड़ ने कहा, “मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ हर स्तर पर लगातार सुधार कर रहे हैं. पिछले एक साल से दोनों अच्छा क्रिकेट खेल रहे हैं. उन्होंने इंग्लैंड दौरे पर भी अच्छी बल्लेबाजी की थी. एक खिलाड़ी के रूप में उनका विकास होते और उन्हें अच्छा प्रदर्शन करते देखना अच्छा लगता है.”