नई दिल्ली: भारत ए के कप्तान श्रेयस अय्यर को लगता है कि लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की लाल गेंद के क्रिकेट में वापसी से उनकी टीम को दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ होने वाले पहले अनधिकृत टेस्ट में मदद मिलेगी. अय्यर ने मैच से पहले कहा, ‘‘वह (चहल) लंबे समय बाद लाल गेंद से क्रिकेट खेलेगा. टीम में लेग स्पिनर की मौजूदगी हमेशा लाभकारी होती है, विशेषकर इन पिचों पर. साथ ही वे किसी भी समय विकेट हासिल कर सकते हैं क्योंकि आपको इस पिच पर काफी टर्न देखने को मिलेगा.’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह उसके लिये काफी अच्छा दौरा भी होगा क्योंकि सीनियर खिलाड़ी होने के नाते वह काफी अनुभवी भी है. साथ ही वह अलग तरह की परिस्थितियों में खेल चुका है. वह बड़ी भूमिका निभा सकता है. ’’ चहल ने दिसंबर 2016 के बाद से कोई भी प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेला है लेकिन भारतीय टीम प्रबंधन और विशेषकर कप्तान विराट कोहली ने संकेत दिया था कि वह पांच दिवसीय मैचों में भी इस लेग स्पिनर को टीम में चाहते हैं.

INDvsENG: शेन वॉर्न की बराबरी पर पहुंचे रविचन्द्रन अश्विन, कोहली की कप्तानी में किया कमाल

ऐसा माना जा रहा है कि चहल को मैच के लिये तैयार किया जा रहा है क्योंकि चयनकर्ताओं ने इंग्लैंड में केवल तीन टेस्ट मैचों के लिये ही सीनियर टीम चुनी है. अय्यर खुद आठ महीने के अंतराल के बाद लाल गेंद से क्रिकेट खेल रहे हैं और वह इस चुनौती के लिये तैयार हैं.

पूर्व खिलाड़ी ने बताई विराट कोहली की खूबी, बैटिंग की ये ट्रिक है सबसे अलग

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपना अंतिम मैच दिसंबर में खेला था. मैं लाल गेंद से खेलने के लिये सकारात्मक हूं. राष्ट्रीय टीम में चुने जाने के संबंध में, मैं कुछ नहीं कह सकता क्योंकि चीजें मेरे हाथ में नहीं हैं. मैं अपना काम करूंगा, और वो अच्छा प्रदर्शन करते रहना है.’’