नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में कुलदीप यादव लय में नहीं दिखे लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि वह विश्व कप में इस चाइनामैन गेंदबाज के प्रदर्शन को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं क्योंकि वह और युजवेंद्र चहल गेंदबाजी आक्रमण की रीढ़ होंगे. कुलदीप को खराब फॉर्म के कारण आईपीएल के दौरान कोलकाता नाइटराइडर्स ने आखिरी मैचों में अंतिम एकादश में जगह नहीं दी लेकिन कोहली को लगता है कि 24 साल के इस गेंदबाज के लिए यह खुद को परखने का मौका था. Also Read - IPL स्थगित होते ही कोरोना से जुड़े राहत कार्यों में जुटे Virat Kohli, तस्वीरें वायरल

Also Read - ICC WTC Final: कोरोना को देखते हुए जल्दी इंग्लैंड रवाना होगी टीम इंडिया

कोहली ने कहा, ‘‘इसका दूसरा पहलू यह है कि कुलदीप की तरह सफल गेंदबाज के लिए ऐसा समय देखना जरूरी था जहां चीजें उसके मुताबिक नहीं हो. यह अच्छा है कि ऐसा आईपीएल के दौरान हुआ, विश्व कप में नहीं.’’ भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘उनके पास खुद को सुधारने का समय है और वह विश्व कप में और मजबूत होकर वापसी करेंगे. हमें पता है कि चहल के साथ उसके पास ऐसा करने का कौशल है. वे दोनों हमारी गेंदबाजी के स्तंभ है.’’ Also Read - IPL स्‍थगित होने के बाद विराट कोहली पत्‍नी अनुष्‍का और बेटी संग पहुंचे घर, वायरल हुए पिक्‍चर्स

इंग्लैंड ने घोषित की वर्ल्ड कप टीम, जोफ्रा आर्चर को मिली जगह

इंटरनेशनल क्रिकेट में 2017 में टीम में आने के बाद चहल और युजवेंद्र ने सीमित ओवर के क्रिकेट में टीम की सफलता में बड़ा योगदान दिया है. चहल ने 41 मैचों में 24.61 की औसत से 72 जबकि कुलदीप ने 44 मैचों में 21.74 की औसत से 87 विकेट चटकाए है. कलाई के इन दो स्पिनरों के साथ जसप्रीत बुमराह, मुहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार की तेज गेंदबाजों की तिकड़ी की मौजूदगी से भारत के विश्व कप के लिए सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण में से एक है.