भारतीय क्रिकेट टीम को न्यूजीलैंड दौरे पर 3 मैचों की वनडे सीरीज में ‘क्लीनस्वीप’ की हार झेलने पर मजबूर होना पड़ा है. इससे पहले भारत ने 5 मैचों की टी-20 सीरीज में कीवी टीम का सफाया किया था. लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने वनडे सीरीज में मिली ‘क्लीनस्वीप’ की हार को अधिक तवज्जो नहीं देते हुए कहा कि पिछले पांच साल में भारत के प्रदर्शन में इतनी अधिक निरंतरता है कि वनडे इंटरनेशनल सीरीज में हार चिंताजनक नहीं है. Also Read - World Test Championship की तैयारी में जुटे Devon Conway, भारत के खिलाफ बना रहे ये रणनीति

Tri-Nation Women’s T20 Series: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 ट्रॉफी जीतने के इरादे से उतरेगा भारत Also Read - विराट कोहली के बराबर हैं केन विलियमसन लेकिन सोशल मीडिया लाइक्स के लिए भारतीय कप्तान को सर्वश्रेष्ठ कहते हैं लोग: वॉन

न्यूजीलैंड ने मंगलवार को तीसरा वनडे 5 विकेट से जीतकर 3-0 से क्लीनस्वीप किया. चहल ने मैच के बाद प्रेस कॉफ्रेंस में कहा, ‘कुल मिलाकर अगर आप देखो तो पिछले चार-पांच साल में हमने सिर्फ चौथी या पांचवीं सीरीज गंवाई है. दूसरी टीम भी खेलती है. आप प्रत्येक मैच नहीं जीत सकते. हमने एक सीरीज जीती, दूसरी हार गए, इसलिए यह इतना गंभीर नहीं है कि इस पर मंथन किया जाए.’ Also Read - Prithvi Shaw में दूसरा Virender Sehwag बनने की क्षमता: पूर्व चयनकर्ता

‘पृथ्वी और मयंक को देश के बार खेलने का मौका मिला’

चहल ने कहा कि युवा खिलाड़ी न्यूजीलैंड में खेलने के अनुभव से काफी कुछ सीखेंगे.

इस लेग स्पिनर ने कहा, ‘पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल टीम में आए, इसलिए युवाओं को भारत के बाहर खेलने का मौका मिला. न्यूजीलैंड में खेलना आसान नहीं होता. लेकिन कुल मिलाकर देखें तो यह सिर्फ एक वनडे सीरीज थी. हमने टी20 सीरीज 5-0 से जीती थी, पहली बार, यह हमारे लिए भी सकारात्मक पक्ष है.’

‘केएल राहुल के अंदर आत्मविश्वास देखा जा सकता है’ 

लोकेश राहुल ने चौथा वनडे शतक जड़ा जबकि श्रेयस अय्यर ने भी अर्धशतक जड़ा जिससे भारत ने 7 विकेट पर 296 रन बनाए. चहल ने इन दोनों के प्रयास की सराहना की.

उन्होंने कहा, ‘आप उनके अंदर आत्मविश्वास देख सकते हो. वे 25-26 साल के हैं और परिपक्वता के साथ बल्लेबाजी कर रहे हैं. वे स्थिति को अच्छी तरह समझते हैं. बीच के ओवरों के बल्लेबाजी करना आसान नहीं होगा विशेषकर तब जब स्पिनर गेंदबाजी कर रहे हों. राहुल ने शीर्ष क्रम में भी बल्लेबाजी की है. इसलिए यह परिपक्वता दिखाता है कि उसे पता है कि टीम को क्या जरूरत है.’

फील्डिंग भारत के लिए चिंता की बात नहीं

चहल ने मेजबान टीम की तारीफ की लेकिन साथ ही कहा कि क्षेत्ररक्षण भारत के लिए चिंता की बात है.

उन्होंने कहा, ‘उन्होंने इस सीरीज में असाधारण प्रदर्शन किया. इसलिए हमें इसकी सराहना करनी होगी. कई बार खराब क्षेत्ररक्षण भी हुआ. 10 में से एक सीरीज में ऐसा होता है, हमारे पास अगली वनडे इंटरनेशनल सीरीज तक का समय है.’

ICC Test Ranking: विराट नंबर-1, बाबर आजम ने पहली बार टॉप-5 में बनाई जगह

चहल से जब यह पूछा गया कि विश्व कप के बाद वह और कुलदीप यादव एक साथ नहीं खेले हैं तो उन्होंने कहा, ‘रविंद्र जडेजा शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं, फिर यह बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी या क्षेत्ररक्षण. इसलिए आधे मैच मैं खेलता हूं और आधे कुलदीप.

भारत और न्यूजीलैंड के बीच अब 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी। सीरीज का पहला टेस्ट 21 फरवरी से खेला जाएगा.