नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के लिए चल रही सीरीज में अपने ऑन फील्ड बिहेवियर के चलते आलोचना झेल रहे टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के समर्थन में जहीर खान और प्रवीण कुमार आए हैं. भारतीय टीम के इन दोनों पूर्व तेज गेंदबाजों ने कहा है कि कोहली जैसे हैं, उन्हें वैसा ही बने रहना चाहिए. कोहली के एग्रेसिव व्यव्हार को लेकर एलन बोर्डर, माइक हसी, मिशेल जॉनसन और यहां तक कि भारत के संजय मांजरेकर भी नाराजगी जता चुके हैं.

जहीर ने कहा, ‘‘मैं यही कहूंगा कि विराट को जो सबसे अच्छा लगता है, वे उस पर कायम रहें. आपको जिसमें सफलता मिलती है, उस पर कायम रहें. आपको सफलता के अपने फॉर्मूले से नहीं हटना चाहिए. यह मायने नहीं रखता कि बाकी क्या कह रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया में सीरीज हमेशा इस तरह से कड़ी होती है.’’

WATCH: ‘बॉक्सिंग डे’ टेस्ट के लिए टीम इंडिया पहुंची मेलबर्न, टेंशन में नजर आए कप्तान कोहली

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने भी जहीर की हां में हां मिलाई. प्रवीण ने कहा, ‘‘कोहली अंडर-16, अंडर-19 और रणजी ट्रॉफी लेवल से ही आक्रामकता के साथ खेलता रहा है. अगर वह भारत की तरफ से खेलते हुए वही आक्रामकता दिखा रहा है तो यह क्या मुद्दा है. मैंने उसके साथ काफी क्रिकेट खेली है और मैं कह सकता हूं कि वह आक्रामकता के बिना अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेल सकता.’’

VIDEO: मैदान पर टिम पेन से भिड़े विराट कोहली, अंपायर ने दी चेतावनी

बता दें कि पर्थ टेस्ट के दौरान कोहली और विपक्षी कप्तान टिम पेन मैदान पर ही भिड़ गए थे. वीडियो में दोनों के बीच कहासुनी स्पष्ट पता चली थी और तब अंपायर क्रिस गफाने को हस्तक्षेप करना पड़ा था. कोहली को इसके बाद स्क्वायर लेग अंपायर कुमार धर्मसेना के सामने अपना पक्ष रखते हुए देखा गया. इस पर पूर्व टेस्ट गेंदबाज डेमियन फ्लेमिंग ने कहा था, ‘‘मुझे लगता है कि यह संकेत हैं कि कोहली ने अपना धैर्य खोना शुरू कर दिया है.’’ भारतीय कमेंटेटर संजय मांजरेकर भी कोहली के बर्ताव से खुश नहीं दिखे. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तानों रिकी पोंटिंग और माइकल क्लार्क ने हालांकि कहा कि दोनों कप्तानों के बीच शब्दों के आदान प्रदान पर उन्हें कोई परेशानी नहीं है और अब तक सीमा नहीं लांघी गई है. मैच खत्म होने के बाद दोनों कप्तानों ने भी मामले को ज्यादा तूल नहीं दिया था.