मुंबई: पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान का मानना है कि इंग्लैंड के खिलाफ इस साल होने वाली पांच टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले एक महीने के अभ्यास का समय भारतीय खिलाड़ियों के लिए वहां की परिस्थितयों में ढलने के लिए पर्याप्त है.

भारत जून में आयरलैंड के खिलाफ दो टी 20 अंतरराष्ट्रीय खेलने के बाद इंग्लैंड का दौरा करेगा, जहां वह तीन से 17 जुलाई के बीच तीन टी 20 और इतने ही एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी. इसके बाद भारतीय टीम एक अगस्त से एजबेस्टन में होने वाले पहले टेस्ट मैच की तैयारियों में जुट जाएगी.

जहीर ने कहा, ‘‘परिस्थितियों से सामंजस्य बिठाने के लिए पर्याप्त समय मिलेगा. आपको वहां के माहौल में ढलने के लिए बहुत समय मिलेगा. अधिकतर खिलाड़ी एक से अधिक फॉर्मेट में खेल रहे हैं और प्रमुख खिलाड़ी विकेट और परिस्थितियों से सामंजस्य बिठा लेंगे.’’

उन्होंने यहां प्रो स्टार अंडर-16 लीग (पश्चिम क्षेत्र) की ट्रॉफी का अनावरण करते हुए कहा, ‘‘इंग्लैंड का मौसम एक जैसा नहीं रहता है. बादल छाए रहने की स्थिति में गेंद स्विंग करती है. आखिर में आपको गेंदबाज या बल्लेबाज के रूप में इन परिस्थितियों से पार पाने के लिये सकारात्मक सोच और सही तकनीक की जरूरत पड़ती है.’’

भारत की तरफ से 92 टेस्ट मैच खेलने वाले जहीर ने कहा कि भारत जब टेस्ट मैच खेलेगा, तब इंग्लैंड में विकेट पहले की तुलना में कुछ शुष्क होंगे. उन्होंने कहा, ‘‘उस समय मौसम कुछ हद तक एक जैसा रहता है और विकेट थोड़ा सूखा हो सकता है क्योंकि धूप खिली रहेगी.’’

कप्तान विराट कोहली परिस्थितियों से सामंजस्य बिठाने के लिए काउंटी क्रिकेट में खेलेंगे, इस बारे में जहीर ने कहा, ‘‘यह निजी फैसला है. यहां तक कि विराट का काउंटी क्रिकेट में खेलना भी टीम का नहीं निजी फैसला है. हमारे पास जिस तरह की टीम है, उनमें से अधिकतर इंग्लैंड में खेल चुके हैं और वहां की परिस्थितियों से वाकिफ हैं.’’