नई दिल्ली: भारत के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान का मानना है कि इंग्लैंड में मौजूदा हालात को देखते हुए दो विशेषज्ञ स्पिनरों को खिलाना अच्छा मौका है और उन्हें एक अगस्त से शुरू हो रही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में कलाई के युवा स्पिनर कुलदीप यादव से काफी उम्मीदें लगाने में कोई बुराई नहीं दिखती. ब्रिटेन में अभी काफी गर्मी है जिससे भारतीय टीम के संयोजन के बारे में काफी चर्चायें हो रही हैं.

जहीर ने सीआईआई द्वारा आयोजित एक सेमीनार के मौके पर कहा, ‘‘हां, अगर मौसम में गर्मी है तो तेज गेंदबाजों के लिये मुश्किल हो सकती है लेकिन आपके पास हमेशा दो विशेषज्ञ स्पिनरों के साथ खेलने का विकल्प होता है. अगर हालत ऐसे ही रहते हैं तो भारतीय टीम प्रबंधन दो स्पिनरों को उतार सकता है.’’

BCCI के कॉन्ट्रैक्ट से ज्यादा इंस्टाग्राम से कमा लेते हैं कोहली, एक पोस्ट के लिए लेते हैं इतने डॉलर

बायें हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप सीमित ओवरों में अपने प्रदर्शन से सभी की चर्चा का केंद्र बने हुए हैं. यह पूछने पर कि क्या युवा स्पिनर के ऊपर काफी दबाव बनाया जा रहा है तो जहीर इससे सहमत नहीं थे.

जहीर ने कहा, ‘‘उम्मीदें क्यों नहीं होनी चाहिए ? अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसने शानदार प्रदर्शन किया , जिसके बाद से उम्मीदें बढ़ गयी हैं. जब आप अच्छा करते हो तो ऐसा होता ही है और उसे (कुलदीप) इससे निपटना होगा.’’

वर्ष 2007 में इंग्लैंड में भारत की अंतिम टेस्ट सीरीज में जीत में अहम रहे जहीर को लगता है कि जहां तक लंबे प्रारूप के क्रिकेट का संबंध है तो दक्षिण अफ्रीका सीरीज से संकेत मिलता है कि विराट कोहली के खिलाड़ी सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.

धोनी ने कोहली-सचिन को छोड़ा पीछे, वजह जानकर आपकी नजर में बढ़ जायेगी इज्जत

उन्होंने कहा, ‘‘हर कोई कह रहा है कि ब्रिटेन में यह गर्मी भारत के नाम रहेगी. मैं भी भारत से दबदबा बनाने की उम्मीद कर रहा हूं. लेकिन हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि यह पांच मैचों की टेस्ट सीरीज है. पांच टेस्ट मैचों की सीरीज काफी चुनौतीपूर्ण भी हो सकती है. आपको लगातार अच्छी लय की जरूरत होगी. लेकिन मुझे दक्षिण अफ्रीका में उनके प्रदर्शन से काफी उम्मीद लगती है.’’ जहीर ने कहा, ‘‘हां, वे टेस्ट सीरीज में 1-2 से हार गये थे लेकिन अंतिम टेस्ट में जिस तरह से उन्होंने वापसी की, वह शानदार था.’’