चोट के कारण एक साल बाद वापसी कर रहे स्टार भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा गुरुवार से शुरू हो रही 59वीं राष्ट्रीय ओपन एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में आकर्षण का केंद्र होंगे. Also Read - आखिर क्यों ये स्टार फर्राटा धाविका LOCKDOWN में अपनी BMW कार बेचने को हुई मजबूर, जानिए वजह

Also Read - फर्राटा क्वीन हिमा दास खेल रत्न के लिए नामित होने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बनीं

Vijay Hazare: दिनेश कार्तिक की कप्‍तानी वाली तमिलनाडु ने दर्ज की लगातार 7वीं जीत Also Read - National Sports Awards 2020: क्या Hitman रोहित शर्मा को चुनौती दे पाएगी महिला 'तिकड़ी'

गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेल और जकार्ता एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज ने एक साल से किसी प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया है. उन्होंने पिछले साल 19 सितंबर को सेना एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 83.90 मीटर का थ्रो फेंका था.

नीरज को दक्षिण अफ्रीका में अभ्यास के दौरान कोहनी की चोट का पता चला और मई में उनका ऑपरेशन कराया गया.

टोक्यो ओलंपिक से दस महीने पहले अब वह लय हासिल करने की कोशिश में होंगे. उन्होंने कहा ,‘यह इस सत्र की आखिरी प्रतिस्पर्धा है और मैं लय हासिल करना चाहता हूं. मैंने अपने डॉक्टरों से बात की और उन्होंने कहा कि मैं इसमें खेल सकता हूं. अब मैं बेहतर महसूस कर रहा हूं.’

कीवी ऑलराउंडर बोले- रोहित का बतौर सलामी बल्‍लेबाज टेस्‍ट डेब्‍यू ठीक ठाक था

नीरज के अलावा फर्राटा धावक मोहम्मद अनस याहया और वी के विस्मया, लंबी कूद के खिलाड़ी श्रीशंकर, महिला भालाफेंक खिलाड़ी अन्नु रानी, फर्राटा धाविका दुती चंद और शॉटपुट खिलाड़ी तेजिंदर पाल सिंह तूर पर भी नजरें होंगी.

इस बीच भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने 46 खिलाड़ियों की प्रविष्टियां रद्द कर दी हैं जो मणिपुर के नहीं होते हुए भी उसका प्रतिनिधित्व करना चाहते थे.