गांधीनगर: गुजरात में पिछले दो सालों में कुल 2,211 हत्याओं और 12,758 खुदकुशी के मामले दर्ज किए गए हैं. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने यह जानकारी बुधवार को विधानसभा में दी. प्रश्नकाल के दौरान राज्य के गृह विभाग द्वारा वर्ष 2016 और 2017 के लिए पेश आंकड़े के मुताबिक इन दो वर्षों में रोजाना औसतन तीन लोगों की हत्या हुई और 17 लोगों ने खुदकुशी की है.

राज्य में गंभीर अपराधों के बारे में पूछे गए सवालों पर जवाब देते हुए मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बताया कि पिछले दो सालों के दौरान कुल 2,215 हत्या के प्रयास के मामले दर्ज किए गए. मुख्यमंत्री के पास गृह विभाग की भी जिम्मेदारी है. सभी जिलों में सूरत सबसे आगे है और यहां पर 267 हत्याएं हुई. इसके बाद अहमदाबाद (241), राजकोट (162) और कच्छ (109) का स्थान रहा. सूरत में खुदकुशी के मामले भी सबसे अधिक रहे. यहां पिछले दो साल में 1,997 लोगों ने खुदकुशी की. इसके बाद अहमदाबाद (1,791) और राजकोट (1,601) का स्थान रहा.

(इनपुट: पीटीआई)